चीन में इंटरनेट सेंसरशिप को दरकिनार करना इतना मुश्किल है कि देश लगभग “नेटिज़ेंस के लिए सबसे बड़ी जेल” बन गया है। इंटरनेट के अलावा, चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (CCP) टेलीविजन, प्रिंट मीडिया, साहित्य, वीडियो गेम, टेक्स्ट मैसेजिंग, थिएटर, रेडियो और फिल्मों पर भी पूर्ण नियंत्रण रखती है। यह न केवल दुनिया के बाकी हिस्सों से चीनी समाज को काटता है बल्कि चीन की सच्ची स्थिति दुनिया भर के दर्शकों से भी छिपी रखता है।

सभी प्रकार के मीडिया पर सेंसरशिप पूरी तरह से सत्तावादी पार्टी द्वारा विनियमित होती है, जो दोनों, राजनैतिक कारणों से “संवेदनशील” ख़बरों को अवरुद्ध करती है, और जनसंख्या पर “नियंत्रण” बनाए रखती है। संक्षेप में, “नेटवर्क आधिकारिकता” CCP  के समाज को चलाने का तरीका बन गया है।

एक और है जो 1999 से CCP द्वारा अवैध तौर पर चीन में  प्रतिबंधित किया गया था, वह है “फालुन गोंग” या “फालुन दाफा”—सत्य-करुणा-सहनशीलता (Truthfulness-Compassion-Forbearance) के सार्वभौमिक मूल्यों के आधार पर एक आध्यात्मिक अभ्यास। फिल्म, वृत्तचित्र, किताबें, ऑडियो, वीडियो, या इस शांतिपूर्ण ध्यान अभ्यास से संबंधित किसी अन्य सामग्री को पूरी तरह से संभवतः सशक्त स्तर पर इस कम्युनिस्ट देश में प्रतिबंधित कर दिया गया है।

जेनिफर 29 जून, 2017 को न्यूयॉर्क में प्रॉस्पेक्ट पार्क में फालुन गोंग का ध्यान अभ्यास करते हुए  (Credit: Benny Zhang)

सभी पुरस्कार-प्राप्त वृत्तचित्रों जिसमें फालुन गोंग अभ्यासियों का चीन में कम्युनिस्ट पार्टी के हाथों भयानक उत्पीड़न को उजागर (exposing the horrific persecution) किया जाता है, वह सब चीन में प्रतिबंधित हैं—पर इन वास्तविक-जीवन की कहानियों को दुनिया भर में दिखाया  जा रहा है, जिससे लोगों को इस दुःखद नरसंहार के बारे में जागरूक बनाया जा सके, जिसमें कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा अनगिनत निर्दोष लोगों को पहले ही बेरहमी से मारा गया है और उनकी हत्या कर दी गई है। इनमें से कुछ वृत्तचित्र हैं : “आज़ाद चीन,” (“Free China”) “मानव प्रत्यारोपण,” (“Human Harvest”) “हार्ड टू बेलीव,” (“Hard to Believe“) “सैंडस्टॉर्म,” (“Sandstorm“) और “द ब्लिडिंग एज” (“The Bleeding Edge“)।

“फ्री चाइना: द करेज टू बीलीव” नामक फिल्म का एक दृश्य जिसमें न्यूयॉर्क के एक मानवाधिकार परेड में जेनिफर ज़ेंग को दिखाया है (एनटीडी टेलीविजन)

वृत्तचित्र “फ्री चाइना: द करेज टू बिलीव” दो फलुन गोंग अभ्यासियों पर केंद्रित है, जिन्हें अपने विश्वास के लिए कैद किया गया था—एक कम्युनिस्ट पार्टी की पूर्व सदस्य जेनिफर ज़ेंग (Jennifer Zeng) और एक चीनी-अमेरिकी व्यापारी डॉ. चार्ल्स ली (Dr. Charles Lee)।

जेनिफ़र को इंटरनेट पर जासूसी के जरिए खोजा गया था और उन्हें अपने विश्वास के लिए जेल में बंद किया गया था, और डॉ. ली को चीन में गिरफ्तार किया गया था जब वह राज्य नियंत्रित टेलीविजन पर बिना सेंसर की जानकारी प्रसारित करके फालुन गोंग के उत्पीड़न का पर्दाफाश करना चाहते थे। अपने विश्वासों को छोड़ने से इनकार करने के लिए, जेनिफर और डॉ. ली को अवैध रूप से जबरदस्ती काम करवाने वाले मजदूर शिविरों में स्थानांतरित कर दिया गया था जहां उन्हें अत्यधिक शारीरिक और मानसिक यातना भुगतनी पड़ती थी।

चार्ल्स ली, एमडी, सार्वजनिक जागरूकता के निदेशक, विश्व संगठन, (M.D., director of Public Awareness, World Organization), फालुन गोंग के अभ्यासियों पर उत्पीडन की जांच (Credit: Minghui.org)

हालांकि, वे दोनों कम्युनिस्ट शासन के घातक चंगुल से बच कर भाग निकले और विदेश में आने में कामयाब रहे, और अब संयुक्त राज्य अमेरिका में रहते हैं।

वृत्तचित्र, मानवता के खिलाफ अपराधों के परेशान कर देनेवाले फोटोग्राफिक सबूतों के साथ, कम्युनिस्ट पार्टी के भयावह चेहरे पर से पर्दा फाश होता है। वृत्तचित्र में, यह दो बचकर भागे हुए व्यक्तियों ने बयान दिया है कि कैसे विवेक के कैदियों को मजबूर श्रम के अधीन किया जाता है और वे बलपूर्वक अंग संचयन (forced organ harvesting) के लिए आसान लक्ष्य बन जाते है, जबकि वे अभी भी जीवित होते हैं। नरसंहार के अलावा, इस फिल्म में यह भी बताया गया है कि चीन में रहने वाले 1.3 अरब से अधिक लोगों को स्वतंत्रता प्राप्त करने में नई इंटरनेट तकनीक कैसे मदद कर रही है।

पुरस्कार और सम्मान

2012 में फिलाडेल्फिया में पहले स्वतंत्र भाषण फिल्म महोत्सव में “फ्री चाइना: द करेज़ टू बिलीव” के निर्माता कीन वाँग (Kean Wong)। (एनटीडी टेलीविजन)

डॉक्यूमेंट्री “फ्री चाइना: द करेज टू बिलीव” को कई अंतरराष्ट्रीय प्लेटफार्मों में शीर्ष पुरस्कारों (top awards) से सम्मानित किया गया है। जैसे की, 2012 में, फिलाडेल्फिया (Philadelphia) के उद्घाटन अंतर्राष्ट्रीय स्वतंत्र भाषण फिल्म महोत्सव (International Free Speech Film Festival)  में “स्वतंत्र चीन” (Free China) ने शीर्ष सम्मान जीता।

(R to L): Film director Michael Perlman, Jennifer Zeng, Margaret Chew Barringer, Kean Wong, producer; NTD President Zhong Lee, Kean Wong’s parents. Left—Charles Lee (Edward Dai/The Epoch Times)
Jennifer Zeng (Credit: Edward Dai/The Epoch Times)

45 वां वर्ल्डफेस्ट-ह्यूस्टन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (WorldFest-Houston International Film Festival), दुनिया का सबसे पुराना स्वतंत्र फिल्म समारोह और उत्तर अमेरिका में तीसरा सबसे पुराना अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह, ने फिल्म को “स्पेशल ज्यूरी अवार्ड” (“Special Jury Award”) दिया। वृत्तचित्र ने मीडिया अवार्ड संगीत में 2013 हॉलीवुड संगीत में इंडी फिल्म / डॉक्यूमेंटरी / शॉर्ट के लिए सर्वश्रेष्ठ गीत जीता और 2012 में हॉलीवुड संगीत मीडिया पुरस्कारों में सर्वश्रेष्ठ साउंडट्रैक के लिए नामित किया गया। 2014 में, यह 12 वीं वार्षिक जीएसएफएफ, न्यू जर्सी में अंतर्राष्ट्रीय विजेता—फ़ीचर डॉक्यूमेंटरी का सम्मान मिला।

फिल्म को भारत में भी प्रदर्शित किया गया है और फरवरी 9, 2014 को नोएडा अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (NOIDA International Film Festival) में सर्वश्रेष्ठ डॉक्यूमेंटरी फिल्म और  जून 21, 2014 को बैंगलोर शॉर्ट्स फिल्म फेस्टिवल (Bangalore Shorts Film Festival) में सर्वश्रेष्ठ संगीत पुरस्कार जीता।

फालुन दाफा अभ्यासी को “फ्री चाइना: द करेज टू बिलीव”  बैंगलोर शॉर्ट्स फिल्म फेस्टिवल में सर्वश्रेष्ठ संगीत का पुरस्कार प्राप्त करते हुए : बैंगलोर, भारत.   (Credit: Falun Dafa Association of India)

नोएडा अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव, 2014 में सर्वश्रेष्ठ वृत्तचित्र फिल्म

Credit: Falun Dafa Association of India

बैंगलोर शॉर्ट्स फिल्म फेस्टिवल, 2014 में सर्वश्रेष्ठ संगीत पुरस्कार

Credit: Falun Dafa Association of India

यह आत्मा को हिला देने वाली फिल्म को अमेरिकी कांग्रेस, यूरोपीय संसद, ब्रिटिश संसद और गूगल मुख्यालय में भी दिखाया गया था। न्यूयॉर्क टाइम्स ने फिल्म को “दिल को छूने वाली”(stirring) के रूप में प्रशंसा प्रदान की है। कैरन करी, (Karen Curry) पूर्व सीएनएन न्यूयॉर्क ब्यूरो चीफ (former CNN New York Bureau Chief) ने फिल्म को “बेहद सम्मोहक” (intensely compelling) के रूप में वर्णित किया है और इंडीवायर (indieWIRE)  ने फिल्म को “बहुत ही  प्रेरणादायक” (deeply inspiring) बताया है।

अमेरिकी कांग्रेस के अध्यक्ष क्रिस स्मिथ, (Chris Smith) चीन के कांग्रेस-कार्यकारी आयोग के अध्यक्ष (Chairman of Congressional-Executive Commission on China) ने कहा, “यह फिल्म एक खेल-परिवर्तक साबित होगी।”

जेनिफर ज़ेंग डॉक्युमेंटरी में कहती हैं, “आखिरकार, राजनेता या सरकार नहीं, बल्कि हम में से हर एक के विकल्प है जो हमारे भविष्य को आकार देंगे और बनाएंगे।”

नीचे फिल्म का ट्रेलर देखें!


Falun Dafa (also known as Falun Gong) is a self-improvement meditation system based on the universal principles of Truthfulness, Compassion, and Tolerance. It was introduced to the public by Mr. Li Hongzhi in 1992 in China. It is currently practiced by over 100 million people in 114 countries. But this peaceful meditation system is being brutally persecuted in China since 1999. For more info, please visit: www.FalunDafa.org and www.FalunInfo.org.

Share