पूर्व भारतीय हॉकी कप्तान ने अपने 12 साल के लंबे करियर के बाद हॉकी को अलविदा कहने का फैसला कर लिया है। इस बात की घोषणा उन्होंने कल की। उन्होंने कहा कि अब वक्त है कि वे देश के युवाओं को रास्ता दिखाने की जिम्मेदारी लें।

 

 

View this post on Instagram

 

It doesn’t matter how many times you fail, as long as you have the strength to keep trying.

A post shared by Sardarsingh (@sardarsingh8) on

नवभारत टाइम्स की एक खबर के अनुसार, उन्होंने कहा कि हाल में संपन्न हुए एशियाई खेल में भारतीय टीम के द्वारा अच्छा प्रदर्शन न कर पाने के बाद उन्होंने यह फैसला किया है। आपको ज्ञात होगा कि एशियाई खेलों में भारत को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था।

 

 

View this post on Instagram

 

Feeling good winning Asia cup after 10 years great team effort and thanks everyone for your support

A post shared by Sardarsingh (@sardarsingh8) on

पूर्व कप्तान ने कहा, “मैंने अंतरराष्ट्रीय हॉकी से अब संन्यास लेने का फैसला किया है। 12 वर्ष एक बेहद लंबा समय होता है और इस दौरान मैंने खूब हॉकी खेली। अब वक्त आ गया है कि भविष्य के खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने का काम किया जाए। मैंने अपने करीबियों से सलाह-मशवरा करने के बाद यह फैसला लिया है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds