क्रोएशिया (Croatia) ने अपने संयुक्त प्रदर्शन के दम पर फीफा विश्व के खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही अर्जेंटीना (Argentina) को गुरुवार देर रात ग्रुप डी के मुकाबले में 3-0 से करारी शिकस्त दी।

इस दमदार जीत के साथ क्रोएशिया की टीम 1998 फीफा विश्व कप के बाद पहली बार प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने में कामयाब हुई है जबकि अर्जेंटीना के लिए अगले दौर में पहुंचने की राह और मुश्किल हो गई है। ग्रुप डी में दो मैच के बाद अर्जेंटीना एक अंक के साथ तीसरे पायदान पर मौजूद है। तालिका में दूसरे पायादान पर काबिज आइसलैंड के पास भी केवल एक अंक है लेकिन उसने दो ग्रुप मुकाबले और खेलने हैं।

 

निझनी नोवगोरोड स्टेडियम में खेले गए मुकाबले में अर्जेंटीना ने तेज शुरुआत करने का प्रयास किया। हालांकि, क्रोएशिया के डिफेंस ने अपना संयम नहीं खोया और काउंटर अटैक करके गोल दागने की कोशिश की।

मिडफील्डर इवान पेरीसिक (Ivan Perisic) ने चौथे मिनट में अर्जेंटीना के डिफेंस को छकाते हुए गोल पर निशाना दागा जिसे गोलकीपर विल्फ्रेडो काबालेरो (Wilfredo Caballero) ने रोक कर अपनी टीम को शुरुआती झटके से बचा लिया।

अर्जेंटीना के दिग्गज फारवर्ड लियोनेल मेसी (Lionel Messi) को 12वें मिनट में बॉक्स के अंदर पास मिला। मेसी गेंद को अपने कब्जे में नहीं ले पाए और गेंद सीधे गोलकीपर डेनिजेल सुबासिक (Denizel Subascic) के हाथों में चली गई।

इसके बाद, दोनों टीमों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली। 30वें मिनट में अर्जेंटीना के मिडफील्डर एंजो पेरेज (Ango parrej) को बॉक्स के अंदर से गोल करने का शानदार मौका मिला। पेरेज को खाली पड़े गोल के सामने गेंद मिली, हालांकि इस आसान मौके पर भी वह अपनी टीम को बढ़त नहीं दिला पाए।

क्रोएशिया ने भी गोल करने की कोशिश जारी रखी और 33वें मिनट में सिमे वसाल्जको ने दाएं फ्लेंक से बॉक्स के भीतर बेहतरीन क्रॉस दिया जिस पर मारियो मांजुकिक (Mario Mandzukic) छह गज की दूरी से हेडर नहीं लगा पाए।

 

अर्जेंटीना के लिए दूसरे हाफ की शुरुआत किसी डरावने सपने की तरह हुई। 53वें मिनट में गोलकीपर काबालेरो ने बॉक्स में अपने खिलाड़ी को पास देने का प्रयास किया और गलती से गेंद को हवा में उछाल बैठे जिस पर रेबिक ने शानदार गोल दागते हुए अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी।

एक गोल से पिछड़ने के बाद अर्जेंटीना ने गोल करने के प्रयास तेज कर दिए। 64वें मिनट में मिडफील्डर मैक्सीमिलियानो मेजा (Maximiliano Meja) और मेसी को गोल लाइन के गेंद मिली लेकिन वह क्रोएशिया के गोलकीपर को भेद नहीं पाए। गोल करने के आसान मौकों को जाया होते देख कोच जॉर्ज सांपाओली मिडफील्डर पाउलो डेबाला को मैदान में लेकर आए।

डेबाला के मैदान पर आने से भी अर्जेंटीना का खेल बेहतर नहीं हुआ। स्पेनिश क्लब रियल मेड्रिड से खेलने वाले मिडफील्डर लुका मोड्रिक ने 80वें मिनट में अर्जेंटीना के बॉक्स के बाहर मिली जगह का लाभ उठाते हुए 25 गज की दूरी से दमदार गोल दागकर क्रोएशिया की बढ़त को दोगुना कर दिया।

इसके बाद, मिडफील्डर इवान रेकिटिक ने इंजुरी टाइम (91वें मिनट) में गोल करके क्रोएशिया की जीत सुनिश्चित कर दी। अर्जेंटीना अपने अंतिम ग्रुप मुकाबले में मंगलवार को नाइजीरिया से भिड़ेगा जबकि क्रोएशिया का सामना आइसलैंड से होगा।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds