ब्राजील (Brazil) के बाद फीफा विश्व कप (Fifa world cup) की सबसे सफल टीम जर्मनी (Germany) मैनुएल नॉयर के नेतृत्व में 14 जून से रूस (Russia) में शुरू हो रहे टूर्नामेंट के 21वें संस्करण का खिताब जीतने की प्रबल दावेदार है। जर्मनी ने 2014 में हुए विश्व कप का भी खिताब अपने नाम किया था और यूरोप (Europe) का यह देश कुल चार बार इस प्रतिष्ठित ट्रॉफी को जीतने में कामयाब रहा है।

 

फीफा विश्व कप में जर्मनी के दबदबे का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि चार बार खिताब जीतने के अलावा यह देश चार बार उपविजेता भी रहा है। जर्मनी ने टूर्नामेंट में पहली बार 1934 में हिस्सा लिया लेकिन टीम खिताब जीतने में कामयाब नहीं हो पाई।

द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद जर्मनी दो हिस्सों में बँट गया जिसे पूर्व जर्मनी एवं पश्चिम जर्मनी से नाम से जाना गया। विश्वयुद्ध के प्रभाव के कारण जर्मनी की दोनों टीमों को 1950 में हुए विश्व कप में हिस्सा नहीं लेने दिया गया लेकिन पश्चिम जर्मनी ने उसके बाद हुए सभी विश्व कप में भाग लिया। हालांकि, पूर्व जर्मनी केवल 1974 विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने में सफल हो पाई।

Credit: Instagram

स्विट्जरलैंड (Switzerland) में हुए 1954 विश्व कप पश्चिम जर्मनी ने शानदार वापसी की और फाइनल मुकाबले में 50 के दशक की शुरुआती की सबसे मजबूत टीम हंगरी को 3-2 से हराकर पहली बार खिताब अपने नाम किया। 1966 में इंग्लैंड (England) में हुए विश्व कप में कप्तान फ्रांज बेकनबॉयर (Franz Baconboor) के नेतृत्व में टीम फाइनल तक पहुंची। हालांकि, जर्मनी खिताब से चूक गई और फाइनल मुकाबले में मेजबान इंग्लैंड ने उन्हें 4-2 से शिकस्त दी।

पश्चिम जर्मनी को दोबारा विश्व कप जीतने का सपना 1974 में सच हुआ। अपने घर में खेलते हुए पश्चिम जर्मनी ने टूर्नामेंट में बड़ी टीमों को मात दी लेकिन मेजबान टीम को एक रोमांचक मुकाबले में टूर्नामेंट में पहली बार हिस्सा ले रही पूर्व जर्मनी के खिलाफ 0-1 से हार झेलनी पड़ी। पश्चिम जर्मनी समय रहते इस हार से उबरी और फाइनल मुकाबले में नीदरलैण्ड्स को 2-1 से हराकर खिताबी जीत दर्ज की।

Credit: Instagram

पश्चिम जर्मनी की फुटबाल टीम ने 80 के दशक में भी अपने दबदबे को जारी रखा अगले तीन में से दो विश्व कप की उपविजेता रही। 1990 में हुए विश्व कप में उसने तीसरी बार खिताब पर कब्जा किया। टीम पूरे टूर्नामेंट में एक भी मैच नहीं हारी और फाइनल मुकाबले में अर्जेटीना को 1-0 से मात दी।

इटली (Italy) में 1990 विश्व कप के बाद से अगले सभी विश्व कप में पूर्व एवं पश्चिम जर्मनी ने एक टीम के रूप में हिस्सा लिया। हालांकि, जर्मनी को चौथ खिताब जीतने के लिए 24 वर्षो का इंतजार करना पड़ा।

पिछले विश्व कप की तरह इस बार भी जर्मनी की टीम सितारों से भरी हुई है और खिताब जीतने की प्रबल दावेदार है। विश्व कप के रूस में होना से भी जर्मनी को लाभ होगा। टीम के पास कई सारे ऐसे खिलाड़ी है विश्व कप जैसे बड़े टूर्नामेंट ख्ेालने का अनुभव है और वह अभी भी विश्व के शीर्ष फुटबाल खिलाड़ियों में गिने जाते हैं।

जर्मनी के तीनों गोलकीपर मैनुअल नॉयर (Manual noir), माके आंद्रे टेर स्टेगन (Mackay Andre Ter Stegen) एवं केविन ट्रैप (Kevin Trap) अपने क्लब के नंबर-1 हैं और इन्हें भेदना किसी भी टीम के फारवर्ड खिलाड़ियों के लिए आसान नहीं होगा। जर्मनी का डिफेंस भी बेहद मजबूत है, जेरोम बाआटेंग (Jerome Baantong) और मैट्स हुमल्स (Matts hummles) के अलावा जोशुआ किमिच (Joshua Kimich) एवं एंटोनियो रुडिगेर (Antonio Rudiger) पर सबकी निगाहें होंगी।

Credit: Instagram

मिडफील्ड में इके गुंडोगन (Ike Gundogan), सामी खेदीरा (Sami Khedira), टोनी क्रूस (Tony Kruse) एवं मेसुट ओजिल (Meseut Ozyl) का अनुभव जर्मनी को विजेता की श्रेणी में लाता है। टीम की फारवार्ड लाइन थोड़ी कमजोर नजर आती है लेकिन थॉमस मुलर (Thomas Muller) और टीमो वॉर्नर (Tomo Warner) की मौजूदगी विपक्षी टीम के डिफेंस के लिए चिंता का विषय होगी।

फीफा विश्व के क्वालीफाइंग दौर में जर्मनी ने अपने सभी मैचों में जीत दर्ज की। विश्व कप के लिए जर्मनी को मेक्सिको (Mexico), स्वीडन (Sweden) एवं दक्षिण कोरिया (South Korea) के साथ ग्रुप-एफ में रखा गया और टीम अपना पहला मैच 17 जून को मेक्सिको के खिलाफ खेलेगी।

जर्मनी फुटबाल टीम :

गोलकीपर : मैनुअल नॉयर, मार्क आंद्रे टेर स्टीगन, केविन ट्रैप

डिफेंडर : जेरोम बाआटेंग, मैथियास गिंटर (Matthias Ginter), जोनास हेक्टर (Jonas Hector), मैट्स हुमेल्स (Matas hummels), जोशुआ किमिच (Joshua Kimich), मार्विन प्लेटनहाडर्ट (Marvin Platanhardt), एंटोनियो रुडिगेर (Antonio Rudiger), निकाल्स सुले

मिडफील्डर : जुलियान ब्रेंडट (Julian Brendt), जुलियान ड्रेक्सल (Julien Drexel), लियोन गोरेत्स्क (Leon Goretsk), इलाके गुंडोगन (Ilkay Gundogan), सामी खेदीरा (Sami Khedira), टोनी क्रूस (Tony Kruse), मेसुट ओजिल (Meseut Ozill), सेबेस्टियन रूडी (Sebastian Rudy)।

स्ट्राइकर : मारियो गोमेज (Mario Gomez), थॉमस मुलर, मार्को रेउस (Marco Reus) और टीमो वॉर्नर (Tomo Warner)।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds