अभी हाल ही में केरल के 14 वर्षीय मणिकंदन ने स्पेनिश फुटबॉल क्लब रियल मैड्रिड (Spanish Football Real Madrid) सीएफ में स्पेशल ट्रेनिंग के लिए प्रवेश कर देश भर की मीडिया का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। इस 14 वर्षीय बच्चे की यात्रा केरल की गलियों से शुरू हुई थी और आज स्पेन की रियल मैड्रिड तक पहुंची है।

Image result for manikandan football
Credit: www.hindustantimes.com

चलिए आपको मणिकंदन की प्रेरक कहानी सारांश में बताते हैं।

आज से सात वर्ष पहले, वर्ष 2011 में मणिकंदन अपनी बहन के साथ केरल के कोल्लम में बहुत ही दयनीय स्थिती में जीवन गुजार रहे थे। बाद में उन्हें गवर्मेंट चिल्ड्रेन होम भेज दिया गया और यही वो जगह बनी जहाँ इस युवा के प्रतिभा को एक नई दिशा मिली और उसे पहचाना गया।

Image result for manikandan football
Credit: Onmanorama – Malayala Manorama

मणिकंदन अब एक अंडर-16 खिलाड़ी हैं जो जिले के लिए खेलते हैं और चेन्नई के फुटबॉल अकादमी में एक प्रोफेशनल फुटबॉलर के रूप में हैं। वहाँ खेलने के दौरान कुछ विदेशी कोच की नजर उन पर पड़ी और वे उनकी प्रतिभा से उनकी ओर आकर्षित हुए तथा उनका नाम मैड्रिड में स्पेशल ट्रेनिंग के लिए भेजा।

मणिकंदन जो कि लियोनेल मेस्सी के बहुत बड़े फैन हैं, उन्होंने कहा, “इस सफलता का श्रेय उनके कोच और चिल्ड्रेन होम के पर्यवेक्षक को जाता है।”

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds