जब भी भारत के खिलाफ हो रहे मैच में कोई हैलीकॉप्टर शॉट लगता है या कोई तेज-तर्रार रन आउट या स्टम्पिंग की जाती है तो पूरा मैदान धोनी-धोनी के नाम से गूँज उठती है। वास्तव में धोनी क्रिकेट में तीन चीजों के लिए जाने जाते हैं, पहला उनकी कूल कप्तानी, दूसरा उनका  हैलीकॉप्टर शॉट और तीसरा उन की तेज-तर्रार स्टम्पिंग।

 

A post shared by @mahi7781 on

आज हम बात कर रहे हैं धोनी के विकेटकीपिंग की। उनकी विकेटकीपिंग देखकर ऐसा लगता है जैसे वे इस पर खासा समय देते हैं और अच्छी प्रैक्टिस करते हैं लेकिन सच्चाई यह है कि धोनी अपनी बैटिंग पर ज्यादा ध्यान देते हैं। वे विकेटकीपिंग की प्रैक्टिस पर बहुत ही कम समय देते हैं। लेकिन मैच में जब उतरते हैं तो स्टंपिंग और रनआउट से बैट्समैन के होश उड़ा देते हैं।

Image result for MS dhoni wicketkeeping pics
Credit: News18.com

आज दक्षिण अफ्रिका (South africa) के खिलाफ होने वाले वन-डे से पहले टीम के कोच आर श्रीधर ने कहा कि, “धोनी अपनी शैली में विकेटकीपिंग करते हैं। मुझे लगता है कि हमें उनकी इस शैली पर रिसर्च करना चाहिए और मैं इसको “द माही वे” नाम देना चाहूँगा। उनकी खास विकेटकीपिंग से युवा विकेटकीपरों को जितना सीखने को मिलेगा वो उनके सोच से परे है।”

Image result for MS dhoni wicketkeeping pics
Credit: NDTV Sports

उन्होंने आगे कहा, “स्पिनरों के लिए वे एक शानदार विकेटकीपर हैं। विकेटकीपिंग उनकी एक ऐसी कला है जिसे देखना सच में एक अद्भुत   अनुभव जैसा है।”

आपको बताते चलें कि धोनी ने 316 वन-डे में 295 कैच लपके और 106 स्टंपिंग भी की।

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds