पंजाब का एक संयुक्त परिवार जहाँ चाचा हैंडबॉल के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी रह चुके हैं और उन्हें क्रिकेट थोड़ी सी भी पसंद नहीं और वे कतई नहीं चाहते की उनका बेटा या भतीजा क्रिकेट खेले। लेकिन होना इसके विपरीत था। बेटे और भतीजे दोनों ने क्रिकेट की ओर कदम बढ़ाया और वर्ष 2019 में होने वाले आईपीएल में एक साथ दोनों का चुनाव अलग-अलग टीमों में हो जाती है। जहाँ एक रोहित शर्मा की टीम में शामिल होता है तो वहीं दूसरा आर अश्विन की टीम में चुन लिए जाते हैं। और इस प्रकार एक ही घर के दो बेटे आईपीएल में चुन लिए जते हैं।

 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Judge me when you are perfect😘

A post shared by Prabhsimran singh (@prabhsimran_84) on

जी हाँ, यह एक सच्ची घटना है किसी फिल्म की कहानी नहीं। यह कहानी है प्रभसिमरन सिंह और अनमोल सिंह की।

नवभारत टाइम्स के अनुसार, जहाँ किंग्स इलेवन पंजाब ने प्रभसिमरन सिंह को 4.8 करोड़ में अपनी टीम में शामिल किया है वहीं अनमोल सिंह को मुंबई की टीम ने 80 लाख देकर खरीद लिया है। प्रभसिमरन विकेटकीपर बैट्समैन हैं तथा अनमोल बैट्समैन हैं। दिलचस्प बात है कि अनमोल के पिता सतवंदर सिंह हैंडबॉल के खिलाड़ी रह चुके हैं। उन्हें क्रिकेट पसंद नहीं है और वे नहीं चाहते थे कि उनका बेटा या भतीजा क्रिकेट में जाए। वे उनको हैंडबॉल का खिलाड़ी बनते देखना चाहते थे।

 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Start where you are , Use what you have. Do what you can💪💪 #SSTON

A post shared by Anmol singh (@anmol_singh322) on

इतना ही नहीं, इस परिवार का तीसरा बेटा तेजप्रीत भी क्रिकेट की ओर रूख कर रहा है और वो अच्छा खेल रहा है। अभी वो सिर्फ 17 वर्ष का है और पंजाब की अंडर-19 में शामिल है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds