क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर न सिर्फ मैदान में बल्कि मैदान के बाहर भी हमारे बीच अपने सरल व्यक्तित्व से उदाहरण पेश करते रहते हैं। जैसा उन्होंने आज किया जब कोलकाता के जादवपुर विश्वविद्यालय ने उन्हें डी.लिट की उपाधि देनी चाही को उन्होंने यह कह कर अस्वीकार कर दिया कि वे बिना मेहनत किए इस उपाधि को ग्रहण नहीं कर सकते।

Image may contain: 2 people, people smiling, people standing
Credit: Fb

नवभारत टाइम्स की एक खबर के अनुसार, भारत के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को कोलकाता का जादवपुर विश्वविद्यालय डी.लिट से सम्मानित करना चाहता था। लेकिन सचिन ने इसे लेने से मना कर दिया। विश्ववद्यालय के उप-कुलपति ने इस बारे में बताते हुए कहा कि उन्होंने प्रशासन को मेल के द्वारा बताया कि वे इस उपाधि को ग्रहण नहीं कर सकते। इसके पीछे उन्होंने कारण बताया कि वे बिना मेहनत की कोई उपाधि स्वीकार नहीं कर सकते।

Image may contain: 1 person, standing
Credit: Fb

आपको बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब उन्होंने किसी विश्वविद्यालय की उपाधि अस्वीकार की है। मीडिया के अनुसार, इससे पहले उन्होंने लंदन का विश्व प्रसिद्ध ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय, मैसूर विश्वविद्यालय और राजीव गांधी यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ ऐंड सांइसेज जैसे संस्थानों की उपाधि भी इसी कारण ग्रहण नहीं की।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds