स्मार्टफोन हमारी रोजमर्रा की जरूरत बन गया है। फोन कॉल, मेसेज, म्यूज़िक और विडियो तो है ही। लेकिन फोन खरीदने वाले यूजर्स स्टोरेज, रैम और प्रोसेसर व बैटरी जैसी चीजें भी स्मार्टफोन में चाहते हैं। आज हम आपको बताते हैं उन बातों के बारे में जो स्मार्टफोन खरीदते समय ध्यान रखनी चाहिए:

 

Credit: ARS Technica

बजट

सबसे पहले यह सोच लें कि आपने जितना बजट तय कर रखा है आपको फोन में फीचर्स भी उसी हिसाब के मिलेंगे। यानी जितना ज्यादा पैसा, उतना ज्यादा बेहतर फोन। आज 10,000 रुपये से 15,000 रुपये के बीच वाले सेगमेंट को आइडियल कह सकते हैं। इस सेगमेंट में सबसे ज़्यादा विकल्प हैं और कंपनियां हाई-ऐंड वाले फीचर्स अब इस ‘बजट’ कैटिगरी में दे रही हैं। अगर आपका बजट 10,000 रुपये से कम हैं तो भी आपको कई विकल्प मिल जाएंगे। 30,000 रुपये से ज़्यादा कीमत में आप हाई-ऐंड और फ्लैगशिप डिवाइस (महंगे फोन) पा सकते हैं।

कैमरा

फोन के कैमरे में मेगापिक्सल ज्यादा हों तो इसका मतलब यह नहीं है कि कैमरा अच्छा है। कई सारे स्पेसिफिकेशंस हैं जो कैमरे को बेहतर बनाते हैं। जैसे कि कैमरा अपर्चर, ISO लेवल, पिक्सल साइज और ऑटोफोकस। 16 मेगापिक्सल कैमरा जरूरी नही कि 12 मेगापिक्सल कैमरे से अच्छा हो। यही बात फ्रंट फेसिंग कैमरे पर भी लागू होती है। ज्यादा मेगापिक्सल का मतलब होता है का इमेज का साइज बड़ा होगा और छोटी स्क्रीन पर ज्यादा शार्प दिखेगी इमेज।

स्टोरेज

स्मार्टफोन की स्टोरेज का बड़ा हिस्सा OS और प्री-इंस्टॉल्ड ऐप्स ने घेरा हुआ होता है। फोन की मेमरी जितनी भी लिखी हो, उसमें इस हिस्से का जिक्र नहीं होता। अगर आप कम ऐप्स रखते हैं तो 32 जीबी मेमरी वाला स्मार्टफोन खरीद सकते हैं। अगर बहुत ज्यादा ऐप्स इस्तमाल करते हैं तो 64 जीबी या 128 जीबी वाले वैरियंट्स ही खरीदें। 16 जीबी वाला मॉडल तभी खरीदें, जब माइक्रोएसडी कार्ड लगाने का फीचर दिया गया हो।

बैटरी

यह यूज़र पर निर्भर करता है कि फोन को किस तरह इस्तेमाल किया जाएगा। जिस तरह आप फोन को इस्तेमाल करते हैं, बैटरी भी उसी हिसाब से खर्च होती है। अगर आप हेवी यूजर हैं तो 3500 mAh से ज्यादा बैटरी वाला फोन खरीदें। ऐवरेज या लाइट यूजर्स के लिए 3000 mAh की बैटरी पर्याप्त है।

रैम और प्रोसेसर

फोन की प्रोसेसिंग पावर कई चीजों पर निर्भर करती है। प्रोसेसर के अलावा यह OS वर्जन, यूजर इंटरफेस और ब्लोटवेयर आदि पर निर्भर करती है। एंड्रॉयड वर्ल्ड में प्रोसेसर की परफॉर्मेंस का अनुमान आमतौर पर कोर से लगाया जाता है। एंड्रॉयड फोन के प्रोसेसर में जितने ज्यादा कोर होंगे परफॉर्मेंस उतनी बेहतर होने की संभावना है। वहीं, फोन की परफॉर्मेंस बहुत हद तक रैम पर निर्भर करती है। अगर आपको अपने फोन से अल्ट्रा स्मूथ परफॉर्मेंस चाहिए तो 2 जीबी या उससे ज्यादा रैम वाला फोन ही खरीदें।

जैक

फोन में पोर्ट कौन सा लगा है, यह बात भी मायने रखती है। मार्केट में माइक्रो-यूएसबी और यूएसबी टाइप-C पोर्ट वाले स्मार्टफोन उपलब्ध हैं। आजकल यूएसबी टाइप-सी वाला स्मार्टफोन लेना ही ठीक है, क्योंकि यह प्लग करने में भी आसान होता है और फ्यूचर प्रूफ भी है। यानी बहुत सी कंपनियां अब यही पोर्ट लगाने लगी हैं। कुछ ने तो हेडफोन जैक को छोड़कर इसी के जरिए हेडफोन कनेक्ट करने का फीचर दिया है।

ac Credit: Youtube

डिस्प्ले

डिस्प्ले का साइज और रेजॉलूशन बहुत मायने रखता है। अगर आप विडियो स्ट्रीम करते हैं, फोटो और विडियो एडिट करते हैं या मूवीज वगैरह डाउनलोड करते हैं तो आपको 5.5 इंच या 6 इंच डिस्प्ले वाला स्मार्टफोन लेना चाहिए। फुल एचडी या QHD रेजॉलूशन वाला डिस्प्ले लेंगे तो और अच्छा रहेगा। इस बात का भी ध्यान रखें कि 6 इंच के डिस्प्ले वाले स्मार्टफोन थोड़े भारी होते हैं और कैरी करने में सुविधाजनक नहीं होते।

ऑपरेटिंग सिस्टम व यूज़र इंटरफेस

OS या यूज़र इंटरफेस किसी फोन की जान होती है। इस इंटरफेस की मदद से ही आप अपने फोन से इंटरैक्ट करते हैं। अगर आपको बेसिक और प्योर ऐंड्रॉयड टाइप फीलिंग चाहिए तो मोटो, लेनोवो के हैंडसेट खरीद सकते हैं या फिर पिक्सल स्मार्टफोन खरीद सकते हैं। आपको ZenUI, MIUI या EMUI या सैमसंग टचविज़ जैसे यूजर इंटरफेस भी पसंद आ सकते हैं। कुछ फोन्स में पहले से कई ऐप्स इंस्टॉल आते हैं और आप उन्हें अनइंस्टॉल भी नहीं कर सकते। इसलिए कोई हैंडसेट खरीदने से पहले उसे ट्राई करके जरूर देखें।

सिक्यॉरिटी

आजकल ज्यादातर स्मार्टफोन एक्स्ट्रा सिक्यॉरिटी फीचर्स के साथ आते हैं, जैसे कि फिंगरप्रिंट सेंसर और आइरिस सेंसर। ये सिर्फ लॉक या अनलॉक करने के ही काम नहीं आते, बल्कि फाइल्स या ऐप्स के लिए पासवर्ड का काम भी करते हैं। आजकर स्मार्टफोन्स में फिंगरप्रिंट सेंसर के अलावा फेशियल रिकग्निशन भी अहम फीचर बन गया है।

…तो ये थे कुछ बुनियादी फीचर, जिन्हें ध्यान में रखकर सुविधाजनक स्मार्टफोन खरीदा जा सकता है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds