चीन की स्पेस एजेंसी के अनुसार चीन का स्पेस स्टेशन तिआंगोंग-1 (Tiangong-1) क्षतिग्रस्त होकर प्रशांत महासागर में गिर गया। अंतरिक्ष यान ने सोमवार को 00:15 GMT पर पृथ्वी के वायुमण्डल में प्रवेश किया और प्रवेश के साथ ही करीब-करीब पूरी तरह से जल गया, चीन की सरकारी न्यूज़ एजेंसी झिन्हुआ (Xinhua) ने इस बात की पुष्टि की।

Credit: ANI

जॉइन्ट फोर्स स्पेस कंपोनेंट कमांड (Joint Force Space Component Command (JFSCC)) के बयान के माध्यम से अमेरिकी सेना ने भी तिआंगोंग-1 के पृथ्वी के वायुमंडल में पुनः प्रवेश की पुष्टि की।

दी गार्डियन (The Guardian) की एक खबर के अनुसार, 10.4 मीटर लंबा तिआंगोंग-1 या हेवेंली पैलेस-1 को चीन की महत्वाकांक्षी परियोजना के तहत साल 2011 में डॉकिंग और ऑर्बिट एक्सपेरिमेंट के लिए लॉन्च किया गया, जिसका मकसद वर्ष 2023 तक कक्ष में स्थायी स्टेशन स्थापित करना था।

वर्ष 2013 में इसे मूल रूप से निष्क्रिय कर दिया गया था लेकिन इसके मिशन को बार-बार विस्तारित किया जा रहा था। हालांकि, बीते वर्ष चीन ने अमेरिका से कहा था कि बिना कोई कारण बताए, स्पेस लैब ने वर्ष 2016 में काम करना बंद कर दिया था। वर्ष 2016 के सितंबर माह में हमने सफलता पूर्वक तिआंगोंग-2 स्पेस लैब को लॉन्च किया था, जिसे कक्षा में स्थापित कर दिया गया।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds