पिछले सप्ताह शीर्ष न्यायालय द्वारा केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश की अनुमति दिए जाने वाले फैसले के बाद राज्य में न्यायालय के फैसले के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरु हो गया था। कोर्ट के फैसले के खिलाफ सबरीमाला प्रोटेक्शन कमीटी ने 12 घण्टे हड़ताल भी घोषित किया था। यहां तक कि विरोध प्रदर्शन करने वालों द्वारा बसों में तोड़-फोड़ किये जाने के कारण राज्य सड़क परिवहन ने भी बसों का परिचालन बंद कर दिया था।

तो वहीं इस हड़ताल के चलते, कुछ अच्छी खबरें भी सामने आई हैं। उनमें से एक अच्छी खबर यह है कि यहां के चेरुथुरुथी और शोरानुर शहर में टैक्सी और रिक्शा चालक प्रदर्शन से परे सड़क के गड्ढे भरने में लगे हुए हैं, ताकि आम जनता को किसी भी प्रकार की समस्या न हो।

दि बेटर इंडिया के अनुसार, एसएमपी जंक्शन और पुराने कोचिन पुल पर बने गड्ढों के कारण यात्रियों को समस्या का सामना तो करना ही पड़ता है, साथ ही किराया भी दो- तीन गुना बढ़ गया है। सड़क की बुरी स्थिति के कारण दुर्घटनाओं की संख्या भी बढ़ गई है।

दि बेटर इंडिया ने एक स्थानीय मलयालम अखबार का हवाला देते हुए लिखा है कि एक चालक ने बताया कि खराब सड़क के कारण हम गर्भवती  महिलाओं को समय पर अस्पताल भी नहीं पहुंचा पाते हैं। हालांकि, अब स्थानीय चालकों ने इस समस्या का खुद ही हल निकाला है और सड़क के गड्ढों को भरना शुरु कर दिया है। वे लोगों के हित में काम करने के लिए अग्रसर हैं।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds