विश्व रेडक्रॉस दिवस (World Red Cross Day) अन्तर्राष्ट्रीय स्वंयसेवक दिवस के रूप में मनाया जाता है। लगभग 150 वर्षों से पूरे विश्व में रेडक्रॉस के स्वंय सेवक असहाय एवं पीड़ित मानवता की सहायता के लिए काम करते आ रहे हैं। भारत में वर्ष 1920 में पार्लियामेंट्री एक्ट के तहत भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी का गठन हुआ।तब से रेडक्रॉस के स्वंयसेवक विभिन्न प्रकार की आपदाओं में निरंतर निस्वार्थ भावना से अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

Image result for World Red Cross Day pics
Credit: askideas

रेडक्रॉस एक राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय एजेन्सी है जिसका प्रमुख उद्देश्य रोगियों, घायलों तथा युद्धकालीन बंदियों की देखरेख करना है। युद्ध के मैदान में घायल सैनिकों की चिकित्सा के साथ प्रकृति के महाविनाश के बीच फंसे लोगों की मदद के लिए हमेशा डटा रहता है रेडक्रॉस।

Image result for World Red Cross Day pics
Credit: americanenglish

पीड़ित मानवता की सेवा बिना भेदभाव के करते रहने का विचार देने वाले तथा रेडक्रॉस अभियान को जन्म देने वाले महान् मानवता प्रेमी जीन हेनरी डयूनेन्ट (Jean Henri Dunant) का जन्म मई 8, 1828 में हुआ था। उनके जन्म दिन को “विश्व रेडक्रॉस दिवस” के रूप में पूरे विश्व में मनाया जाता है।

Image result for Jean-Henri Dunant pics
Credit: annauniversity

उन्होंने समाज सेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किए और पूरे विश्व के लोगों को मानवतावादी सेवक के रूप में अपने को स्थापित करने के लिए प्रेरित किया। सेवा कार्य के लिए उनके द्वारा गठित सोसायटी को “रेडक्रॉस” का नाम दिया गया। वर्ष 1901 में हेनरी डयूनेंट को उनके मानव सेवा के कार्यों के लिए पहला “नोबेल शांति पुरस्कार” मिला।

Image result for World Red Cross Day pics
Credit: redcrossggr

इस संस्था की पहचान के लिए सफ़ेद पट्टी पर लाल रंग के क्रास चिह्न को मान्यता दी गई। आज यह चिह्न पूरे विश्व में पीड़ित मानवता की सेवा का प्रतीक बन गया है। इसके साथ यह भी अतिमहत्त्वपूर्ण है कि अमेरिका में 1937 में विश्व का पहला “ब्लड बैंक रेडक्रॉस” (Blood Bank Redcross) खुला।

Image result for Blood Bank Redcross pics
Credit: justdial

आज विश्व के अधिकांश ब्लड बैंकों का संचालन रेडक्रॉस एवं उसकी सहयोगी संस्थाओं के द्वारा किया जाता है। रेडक्रॉस द्वारा चलाए गए रक्तदान जागरूकता अभियान के कारण ही आज थैलेसिमिया, कैंसर, एनीमिया जैसी अनेक जानलेवा बीमारियों से हजारों लोगों की जान बचाई जा रही है।

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds