राष्ट्रीय किंडरगार्टन दिवस (National Kindergarten Day) अप्रैल 21 को हर साल मनाया जाता है। यह दिन फ्रेडरिक विल्हेम औगस्ट फ्रोबेल (Friedrich Wilhelm August Frobel) के सम्मान में मनाया जाता है। इन्होंने 1837 में जर्मनी (Germany) में सबसे पहले बालवाड़ी शुरू की थी। फ्रोबेल एक जर्मन शिक्षक और जोहान पेस्टलोज़ी (Johann Pestalozzi) के छात्र थे।

किंडरगार्टन की अर्थ है “बच्चों के लिए उद्यान। फ्रोबेल बच्चों को एक अविकसित पौधा मानते थे जिन्हें स्कूल में अध्यापक रुपि माली द्वारा सींचकर बड़ा और काबिल किया जाता है। किंडरगार्टन बच्चों का एक छोटा सा स्कूल है जहाँ बच्चों को चटाई बुनने, मिट्टी की मुर्तियाँ बनाने, सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा क्रियात्मक गाने सिखाये जाते हैं।

Related image
Credit: campaniasuweb

अधिकांश देशों में बालवाड़ी (Kindergarten) प्रारंभिक बचपन की शिक्षा की प्रीस्कूल प्रणाली का हिस्सा है। आमतौर पर दो साल से सात साल तक की उम्र के बीच के बच्चे बालवाड़ी जाते हैं। यह स्थानीय प्रणाली पर निर्भर करता है।

Related image
Credit: thestar

बच्चों को किंडरगार्टन या बालवाड़ी में इसलिए भेजा जाता है ताकि वे एक दूसरे से अच्छी तरह से बातचीत करना सीख सकें और खेलें। एक शिक्षक उन्हें बहुत सी सामग्री उपलब्ध कराता है और यहां पर वे बहुत-सी गतिविधियों में हिस्सा लेते हैं जिससे ये बच्चे भाषा सीखने के लिए प्रेरित होते हैं, शब्दों को पढ़ना सीखते हैं, अपने स्तर का गणितीय और वैज्ञानिक ज्ञान प्राप्त करते हैं और साथ ही संगीत, कला और सामाजिक व्यवहार की शिक्षा भी प्राप्त करते हैं।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds