भारतीय अंतरीक्ष अनुसंधान केंद्र (ISRO) नया संचार उपग्रह जीसैट-7ए के प्रक्षेपण के लिए पूरी तरह से तैयार है। टाइम्स नाऊ के अनुसार इसरो यह उपग्रह खासकर भारतीय वायु सेना के लिए प्रक्षेपित कर रहा है। इसके सफल प्रक्षेपण और कक्षा में स्थापित होने के बाद भारतीय वायु सेना संचार के क्षेत्र में एक नयी शुरुआत करेगी। जीसैट-7ए के माध्यम से भारतीय वायुसेना रडार के माध्यम से देश भर के विभिन्न एयरबेस और लड़ाकू विमानों से संपर्क साध सकेंगे।

7 ए सैन्य संचार उपग्रह, जिसे जिओसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च वाहन-एफ 11 (जीएसएलवी-एफ 11) के माध्यम से प्रक्षेपित किया जाएगा, यह भारतीय वायुसेना की मारक क्षमता बढ़ाने में भी मदद करेगा। इसकी मदद से भारतीय वायुसेना की धरती पर स्थित संचार केंद्रों पर निर्भरता भी समाप्त हो जाएगी और संचार के माध्यम में तेज़ी आएगी।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds