अगर बॉलीवुड फ़िल्मों में दिखाई जाने वाले माँ के पात्र की बात करें तो दिमाग़ में एक ऐसी अबला औरत की छवि बनती है, जो रोने-धोने का बहाना ढूंढती रहती है। लेकिन कुछ फ़िल्में ऐसी भी हैं, जिनमें माँ के किरदार को रूढ़िबद्ध धारणा पर आधारित न दिखाकर, असलियत के ज़्यादा करीब सुशक्षित और सशक्त दिखाया गया है। 

तो आइए जानते हैं बॉलीवुड की उन महान कलाकारों और फ़िल्मों को जिसमें आधुनिक माँ की छवि देखने को मिलती है जो न तो अबला हैं और न ही बेसहारा:

1. स्वरूप संपत—की एंड का!

Image result for स्वरूप संपत-की एंड का का
Credit: Outlook Hindi

इस फिल्म में करीना की मां का किरदार प्रगतिशील और मॉडर्न है। उन्हें लिव-इन रिलेशनशिप से भी कोई परेशानी नहीं होती है और वे अपनी बेटी को उसके करियर में आगे बढ़ने के लिए पूरा समर्थन भी करती हैं।

2. स्वरा भास्कर—निल बट्टे सन्नाटा!

Image result for स्वरा भास्कर-निल बट्टे सन्नाटा
Credit: Box Office Capsule

एक बाई के तौर पर काम करने वाली दृढ़-निश्चयी मां का किरदार इस फ़िल्म में दिखाया गया है जो अपनी उम्र के बंधनों को तोड़ती है और स्कूल जाकर शिक्षा प्राप्त करती है।

3. शबाना आजमी—नीरजा!

Image result for शबाना आजमी-नीरजा
Credit: Bollywoodlife

शबाना आज़मी ने इस फ़िल्म में मां का किरदार इतनी ख़ूबसूरती से निभाया है कि एक-एक जज़्बात परदे पर निखर कर आया है।

4. श्री देवी—इंग्लिश विंग्लिश!

Image result for श्री देवी-इंग्लिश विंग्लिश
Credit: Lallan Top

इस फ़िल्म में श्री देवी ने एक ऐसी मां का किरदार किया जो खुद को बेहतर जानने और अंग्रेज़ी के अपने डर को ख़त्म करने की राह पर निकल पड़ती है।

5. किरण खेर—ख़ूबसूरत!

Image result for किरण खेर-खूबसूरत
Credit: Hindustan Times

इस फ़िल्म में किरण खेर ने एक ऐसी मां का किरदार निभाया है जो अपनी बेटी की दोस्त बन कर रहती हैं । सोनम हर बात बिना हिचकिचाए उनसे खुल कर बता पाती है।

6. ज़ोहरा सहगल—चीनी कम!

Image result for ज़ोहरा सहगल-चीनी कम
Credit: naidunia

इस फ़िल्म में ज़ोहरा सहगल ने एक ऐसी मां का किरदार निभाया है जो बूढ़ी तो हैं पर प्रगतिशील भी हैं। वे अपने बेटे को प्यार ढूंढने के लिए प्रेरित भी करती हैं।

Share

वीडियो