पेंटागन (Pentagon) ने चीन (China) के विरूद्ध एक वैश्विक अभियान योजना विकसित की है, एक शीर्ष अमेरिकी सैन्य नेता ने अमेरिकी सांसदों को बताया, जिन्होंने अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए विशाल एशिया को “प्रमुख चुनौतियों में एक” के रूप में पहचाना है।

“हमारे पास चीन के लिए एक वैश्विक अभियान योजना है। प्रत्येक योद्धा कमांडर उस वैश्विक अभियान योजना के संदर्भ में चीन को संबोधित करता है,” अमेरिका के संयुक्त चीफ आॅफ स्टाफ के अध्यक्ष, जनरल जोसेफ डनफोर्ड (General Joseph Dunford) ने काँग्रेस की सुनवाई के दौरान गृह सशस्त्र सेवा समिति (House Armed Services Committee) के सदस्यों को बताया।

उन्होंने कहा कि अमेरिकी प्रशांत कमांड (US Pacific Command) के कमांडर, एडमिरल हैरी हैरिस (Admiral Harry Harris) उस वैश्विक अभियान योजना के समन्वयकारी प्राधिकारी हैं।

“लेकिन प्रत्येक योद्धा कमांडर के पास उनकी ज़िम्मेदारियों के संबंधित क्षेत्रों में सहायक योजनएं हैं जो उनके क्षेत्रों में चीनी गतिविध और क्षमता की विशेष रूप से व्याख्या करती हैं,” उन्होंने कहा।

डनफोर्ड (Dunford) महासभा सदस्य विकी हाटर्ज़लर (Vicky Hartzler) के प्रश्न का उत्तर दे रहे थे, जिन्होंने कहा था कि चीन ने न कवेल इंडो प्रशांत क्षेत्र में, बल्कि पूरे विश्व में स्वयं का विस्तार किया है।

“वर्तमान में उनकी गतिविधियां अफ्रीका (Africa), यूरोप (Europe), लैटिन अमेरिका (Latin America), आदि में हैं। चीन की चुनौतियों का सामना करने के लिए विभिन्न एओआर (AORs) (जिम्मेदारी के क्षेत्र) में प्रत्येक योद्धा कमांड के द्वारा किए गए प्रयासों के विषय में आप कितना जानते हैं?” उन्होंने पूछा।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए चीन प्रमुख चुनौतियों में से एक हैं।

“चीन अति केंद्रित है। उनके पास प्रयासों के बहु पथ हैं, जासूसी से लेकर सेना तक, प्रति गुप्त योजना तक, प्रचार के हथियार तक, आदि,” हाटर्ज़लर ने कहा, वह चीन की वृद्धि पर चिंता व्यक्त करने में कई अन्य सांसदों के साथ सहभागी थीं।

कांग्रेस के सदस्य सेठ विल्बर माॅल्टन (Seth Wilbur Moulton) ने कहा, “2020 तक कृत्रिम बुद्धि में अमेरिका की क्षमता तक पहुँचने के लिए चीन ने एक स्पष्ट प्रतिबद्धता की है और फिर 2030 तक इससे आगे बढ़ने की।”

कांग्रेस के सदस्य माइक गैलाघर (Mike Gallagher) ने पूछा, अगर चीन को निवेश और संयुक्त उपक्रमों के माध्यम से अमेरिका की उन्नत प्रौद्योगिकियों को हासिल करना जारी रखने की अनुमति दी जाती है तो उसके दीर्घकालिक परिणाम क्या होंगे।

रक्षा सचिव जिम मैटिस (Jim Mattis) ने कहा कि यहां ऐसी प्रौद्योगिकियां हैं जिन्हें अमेरिका रक्षा के लिए, सुरक्षा के लिए चीनी हाथों में नहीं देखना चाहता है।

“मुझे लगता है कि आपने कुछ सप्ताह पहले यहाँ 5जी प्रयासों को देखा था, जिसमें हम यहां तक कि जो प्रक्रिया आवश्यक है उसके पहले ही तेजी से आगे बढ़ते हैं, जिससे सुनिश्चित हो सके कि हम उस व्यवसायिक लिंक को सरल रूप से नहीं देखते हैं जो हमारे सर्वोत्तम हित में नहीं थी,” उन्होंने कहा।

“लेकिन वह एक एक-बार का प्रयास था। हमें अपने समाज के संपूर्ण भेदन को देखने की आवश्यकता है, और इसे रक्षित करने के लिए हमें क्या चाहिए और सीएफआईयूएस (Committee on Foreign Investment in the US – CFIUS) इसका महत्वपूर्ण भाग है।

“अभी प्रत्येक लोकतांत्रिक राष्ट्र, जिस तरह से हम जर्मनी (Germany) से आॅस्ट्रेलिया (Australia) तक, कनाडा (Canada) से यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) तक के साथ कार्य करते हैं, वे सभी इस मुद्दे पर कार्य कर रहे हैं। और इसलिए यह केवल हमारे लिए अद्वितीय नहीं है, लेकिन यह निश्चित रूप से हमारी ज़िम्मेदारियों में से एक है,” मैटिस (Mattis) ने कहा।

डनफोर्ड के अनुसार, बौद्धिक संपदा का उठाना जिस प्रकार से चीन कर रहा है वह वास्तव में प्रौद्योगिक प्रतिस्पर्धात्मक लाभ को बनाए रखने की अमेरिका की क्षमता को कम कर रहा है।

“हम निवेश जोखिम की समीक्षा प्रक्रिया में सुधार करने जा रहे हैं जो एक विशिष्ट क्षेत्र होगा जहां कांग्रेस कुछ कदम उठा सकती है, जिससे हम उन विशिष्ट तथ्यों के बारे में सोच सकें जिनके द्वारा हम उन चीज़ों की रक्षा कर सके जिनकी रक्षा करना बहुत ही आवश्यक है,” मैटिस ने कहा।

Share

वीडियो