केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह जम्मू एवं कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर गुरुवार को श्रीनगर पहुंचेंगे। वे राज्यपाल एन.एन.वोहरा, मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और राज्य एवं केंद्र विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से कानून एवं व्यवस्था की समीक्षा करेंगे।

इस दौरान यह भी विचार किया जाएगा कि क्या मौजूदा समय में संघर्षविराम की स्थिति को ईद के बाद भी विस्तृत किया जाए या नहीं। राजनाथ सिंह अपने इस प्रवास के दौरान अमरनाथ यात्रा के लिए सुरक्षा की समीक्षा भी करेंगे। यह यात्रा 28 जून से शुरू हो रही है।

राज्य सरकार ईद के बाद भी संघर्षविराम को कायम रखना चाहती है। शीर्ष सूत्रों का कहना है कि सेना के फील्ड कमांडर्स का कहना है कि एक तरफ से संघर्षविराम से आतंकवादियों को भर्तियों के जरिए अपनी संख्या बढ़ाने में मदद मिल रही है।

राजनाथ सिंह की इस यात्रा का एक और एजेंडा वार्ता के लिए अलगाववादी नेताओं को बातचीत के लिए तैयार करना है।

राजनाथा का कहना है कि केंद्र सरकार अलगाववादियों सहित सभी के साथ वार्ता करने के लिए तैयार है। भाजापा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने हाल ही में अलगाववादियों से केंद्र के साथ सार्थक वार्ता में शामिल होने को कहा था।

राजनाथ सिंह अपने दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन जम्मू में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर सुरक्षा की समीक्षा करेंगे।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds