राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को कहा कि राजभवन या राज्य सरकारों के आधिकारिक आवासों को पर्यावरण संरक्षण या मॉडल हरित इमारतों के आदर्श परिसरों के तौर पर विकसित किया जा सकता है।

कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित राज्यपालों के 49वें सम्मेलन के समापन समारोह में कहा, हमारे संविधान के नीति निर्देशक तत्व भी पर्यावरण संरक्षण और वन्यजीव के संरक्षण के बारे में बताते हैं। सभी राजभवनों को पर्यावरण संरक्षण के रोल मॉडल के तौर पर विकसित किया जा सकता है।

Credit: Pintrest

उन्होंने कहा, जल और ऊर्जा संरक्षण, स्वच्छ ऊर्जा के इस्तेमाल और जीरो कार्बन उत्सर्जन के लक्ष्य को पाने के लिए दक्षता के साथ काम करने की जरूरत है। अगर राजभवन ऐसा करेंगे तो अन्य सरकारी कार्यालय और संस्थान इसका अनुसरण करेंगे।

कोविंद ने कहा कि इसी तरह विश्वविद्यालय सामाजिक दायित्व(यूएसआर) के अंतर्गत विश्वविद्यालयों के भी परिसरों को मॉडल हरित परिसरों में बदला जा सकता है।

कोविंद ने सलाह देते हुए कहा कि विश्वविद्यालय के छात्रों को गांवों में जाकर गांवों को खुले में शौच मुक्त बनाने के लिए ग्रामीणों से बातचीत करनी चाहिए।

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds