केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने पहली और दूसरी कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों को ध्यान में रखते हुए एक नया नोटिस जारी किया है। सीबीएसई द्वारा जारी किए गए इस नोटिस में पहली और दूसरी कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों को होमवर्क नहीं दिए जाने को कहा गया है।

टाइम्स नाऊ की एक खबर अनुसार, वकील एम.पुरूषोथमान की याचिका के जवाब में मद्रास हाई कोर्ट के न्यायमूर्ति एन.किरुबाकरन (N. Kirubakaran) ने यह आदेश पारित किया था जिसमें सीबीएसई से एनसीईआरटी द्वारा निर्धारित पाठ्यक्रम को लागू करने को कहा गया था।

Credit: Facebook | Kamal Batra

जब इस याचिका पर सुनवाई हुई, तो सीबीएसई ने प्रतिक्रिया में सितंबर15, 2004 और सितंबर 12, 2016 की प्रति पेश की, जिसमें पहली और दूसरी कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों को होमवर्क नहीं दिए जाने की बात को अनिवार्यतः लागू करने को कहा गया था।

सीबीएसई द्वारा जारी किए गए नोटिस में कहा गया है, “पहली और दूसरी कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों को होमवर्क नहीं दिया जाए। इसके अलावा छात्रों को बैग लेकर स्कूल आना भी अऩिवार्य नहीं है। इसके संबंध में बोर्ड द्वारा कहा गया है, भारी बैग से बच्चों के स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड़ता है। अतः छोटे बच्चे हर रोज़ केवल ज़रूरी किताबें लेकर ही स्कूल आएं।”

Share

वीडियो