मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को भारतीय जनता युवा मोर्चा के ‘चलो पंचायत’ कार्यक्रम में उज्जैन जिले के गोठड़ा गांव में हिस्सा लिया और नर्मदा नदी को गंभीर, पार्वती तथा कालीसिंध नदियों से जोड़ने का ऐलान किया।

मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में पिछले वर्षो में सिंचाई रकबे में छह गुना बढ़ोतरी हुई है। पहले केवल सात लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई होती थी। आज 40 लाख हेक्टेयर में सिंचाई हो रही है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2025 तक प्रदेश के 80 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। प्रदेश में किसी भी गांव का घर बिजली के बिना नहीं रहेगा, हर घर में बिजली होगी। प्रदेश में 18 हजार 800 मेगावट बिजली का उत्पादन हो रहा है। वर्ष 2004 में केवल 2900 मेगावट बिजली का उत्पादन होता था।

चौहान ने कहा कि पहले सड़क में गड्ढ़े हैं या गड्ढों में सड़क, पता नहीं लगता था। पिछले कुछ सालों में डेढ़ लाख किलोमीटर सड़कें प्रदेश में बनवाई गई हैं।

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर गोठड़ा ग्राम में पानी की टंकी बनाने की मंजूरी दी। साथ ही, लाड़ली लक्ष्मी योजना, राष्ट्रीय परिवार सहायता, उज्ज्वला, मुख्यमंत्री जन-कल्याण योजना के हितग्राहियों को प्रतीकात्मक रूप से हित-लाभ वितरित किए। मुख्यमंत्री ने किसानों को स्वाइल हेल्थ-कार्ड भी वितरित किए।

कार्यक्रम में सांसद डॉ़ चिंतामणि मालवीय, विधायक डॉ़ मोहन यादव और भाजयुमो के प्रदेशाध्यक्ष अभिलाष पांडेय भी मौजूद थे।

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds