आम आदमी पार्टी (आप) ने रविवार को एक सभा कर दिल्ली को पूर्ण राज्य के दर्जे की अपनी मांग को लेकर अभियान शुरू करने की घोषणा की। आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हजारों पार्टी समर्थकों, मंत्रियों और विधायकों को संबोधित करते हुए कहा कि यदि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2019 के आम चुनाव से पहले दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के अपने वादे को पूरा कर देते हैं, तो उनकी पार्टी एक बार फिर राष्ट्रीय राजधानी की सातों सीटों पर जीत दर्ज कराएगी।

यदि वह अपना वादा पूरा नहीं करते हैं तो अगले चुनाव में उन्हें खाली हाथ रह जाने के लिए तैयार रहना चाहिए। केजरीवाल ने कहा कि उपराज्यपाल (अनिल बैजल) ने उनकी सरकार को दिल्ली की जनता के लिए ज्यादा मोहल्ला क्लीनिक, शिक्षण संस्थान, घर-घर राशन की आपूर्ति और सीसीटीवी कैमरे लगाने जैसे काम नहीं करने दिए।

वहीं, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने घोषणा की कि आप ‘दिल्ली मांगे अपना हक’ अभियान के अगले चरण में तीन से 25 जुलाई तक 10 लाख परिवारों तक जाएगी और पूर्ण राज्य की मांग के पक्ष में उनसे हस्ताक्षर लेगी।

उन्होंने कहा, हमारे पार्टी के कार्यकर्ता (मुख्यमंत्री अरविंद) केजरीवाल का एक पत्र लेकर दिल्ली में हरेक परिवार के पास जाएंगे और दिल्ली को पूर्ण राज्य के दर्जे की मांग वाले पत्र पर हस्ताक्षर कराएंगे। उसके बाद हम ये हस्ताक्षरित पत्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सौंपेंगे।

मंत्री गोपाल राय ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए इस अभियान में सक्रिय भागीदारी करने की अपील की। आप ने इस काम के लिए समूची दिल्ली में कम से कम 3,000 केंद्र खोलने की योजना बनाई है।

राय ने कहा, हमारे अभियान केंद्रों से जुड़ने की इच्छा रखने वाला कोई भी व्यक्ति 7065049000 पर डायल कर सकता है। केंद्र से फॉर्म लीजिए, उन पर हस्ताक्षर कराइए और वापस उसे केंद्र पर जमा कर दीजिए।

केजरीवाल ने कहा कि मोदी को 10 लाख पत्र सौंपना उनकी पार्टी की मांग के संबंध में उनकी पार्टी के कार्यक्रम का सिर्फ प्रथम चरण है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds