युद्ध की चपेट में पूरी तरह फंसे यमन को संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख एंतोनियो गुतारेस ने चेतावनी देते हुए संकेत किया कि अगर यमन की स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो आने वाले वर्षों में वहां की स्थिति और भी गंभीर हो सकती है। इसीलिए बेहतर है कि स्थिति को सुधारा जाए।

 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Climate conference #poland#globalwarming#globalgoals#climateaction

A post shared by António Guterres (@antonio_guterress) on

नवभारत टाइम्स के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र परिषद के प्रमुख एंतोनियो गुटारेस ने रविवार को अगर यमन में हिंसा में लिप्त लोग समझौता करते हुए इस स्थिति को बदलने की ओर कदम नहीं उठाते तो यमन की स्थिति आने वाले समय में और भी बदतर हो जाएगी।

बीते गुरूवार को यूएन ने अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त सरकार और हूती विद्रोहिंयो के बीच संघर्ष विराम को लेकर एक मध्यस्थता की थी। संयुक्त राष्ट्र की मध्यस्था में यमन में युद्ध की स्थिति को खत्म करने के लिए स्वीडन में हफ्ते भर तक चली इस वार्ता के बाद यह समझौता हुआ था।

 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 

“Today, I hope we are seeing the beginning of the biggest tragedies of the 21st century-the conflict in #yemen,the worst humanitarian crisis in the world”. #globalgoals#yemen

A post shared by António Guterres (@antonio_guterress) on

गुतारेस ने कहा, “बिना शांति के वर्ष 2019 में आज से भी भयावह स्थिति का सामना करना पड़ सकता है।”

यमन में चल रहे युद्ध के कारण लाखों लोगों की जिंदगी बुरी तरह प्रभावित हो चुकी है। लोग भूख और हिंसा से बुरी तरह प्रभावित हैं।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds