यमन की स्थिति देखते हुए लग रहा है कि वहाँ के हालात दिन पर दिन खराब होते जा रहे हैं। हाल ही में यूएन द्वारा एक मीडिया बातचीत में कहा गया कि युद्ध प्रभावित यमन में जहाँ करीब 2 करोड़ लोग भूख का सामना कर रहे हैं, वहीं लगभग ढाई लाख लोगों को तबाही का सामना करना पड़ रहा है।

 

नवभारत टाइम्स के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता के प्रमुख मार्क लोकॉक ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा, “देश के हालात तेजी से खराब हो रहे हैं जो कि बेहद चिंता का विषय है। पहली बार यमन के करीब ढाई लाख लोगों को फेज-5 के वैश्विक पैमाने पर रखा गया है।”

उन्होंने आगे कहा, “यह पैमाना भूखमरी और कुपोषण की भयावह स्थित को दर्शाता है। फेज-5 गरीबी, भूखमरी और मौत को दर्शाता है। ये लोग यमन के चार सबसे ज्यादा प्रभावित प्रांत ताएज , सादा , हज्जा और हेदोदिया में रह रहे हैं। यहाँ संघर्ष बहुत तेजी से बढ़ रहा है।

Share

वीडियो