यूएन में मौत की सजा पर वोटिंग की गई थी जिसमें पाकिस्तान ने भी अपना वोट डाला लेकिन मंगलवार को पाकिस्तान ने इस वोटिंग पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि उनके वोट की गिनती गलत तरीके से की गई है। इस बारे में पाकिस्तान ने अपने बयान जारी किए हैं।

नवभारत टाइम्स के अनुसार, पाकिस्तान ने कहा कि यूएन एसेंबली में फांसी की सजा पर रोक लगाने वाले एक प्रस्ताव में की गई उनकी वोटिंग को प्रस्ताव के पक्ष में गिन लिया गया है। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने सोमवार को मतदान के बारे में अपना स्पष्टीकरण दिया था जो खबरों के मुताबिक प्रस्ताव के समर्थन में चला गया।

मोहम्मद फैसल ने अपने एक ट्विट में कहा, “पाकिस्तान ने मृत्युदंड को खत्म करने के विचार के साथ ही फांसी पर रोक लगाने वाले प्रस्ताव के खिलाफ वोट डाला था।”

सोमवार को एमेनस्टी इंटरनेशनल ने अपने रिपोर्ट में कहा कि पाकिस्तान के अलावा संयुक्त राष्ट्र के तीन अन्य सदस्य देशों ने प्रस्ताव के समर्थन में अपने वोट दिये ।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds