यूँ तो हमने कई बॉलीवुड फिल्मों में देखा है कि महलों की राजकुमारी एक आम इंसान से प्यार कर बैठती है। लेकिन जापान में यही फ़िल्मी कहानी असल जीवन की हकीकत बनने जा रही है। पहली बार जापान के शाही घराने के इतिहास में किसी राजकुमारी ने आम आदमी से शादी की है। अपने प्यार को पाने के लिए इस राजकुमारी को अपना शाही रुतबा छोड़ना पड़ा।

The wedding took place in the serene confines of Meiji Jingu, a shrine surrounded by forests in central Tokyo 
Credit : telegraph

शाही परिवार के एक कर्मचारी के मुताबिक,पिछले साल दिसंबर में अयाको की मां रानी ताकामोदो ने अयाको को केई मोरिया से मिलवाया था। यहीं  से उनके प्यार की शुरुआत हुई। और दोनों ने शादी करने का फैसला किया। केई मोरिया निप्पोन युसेन नामक शिपिंग कंपनी में कार्य करते हैं। ताकामोदो, केई के माता-पिता को जानती थीं। केई और अयाको दोनों को ही ग्लोबल वेलफेयर, स्कीइंग, किताबों और ट्रेवल का शौक है।

हालाँकि ऐसा नहीं है कि अयाको ने अपने परिवार के खिलाफ जाकर शादी की। अयाको का परिवार शादी के लिए राजी था इसलिए 29 सितम्बर को यह जोड़ा टोक्यो के मेइजी जिंगु मंदिर में शादी के बंधन में बंधा। अयाको को शादी के बाद किसी चीज की कमी न आने पाए इस बात का ख्याल रखते हुए जापानी राजघराने ने राजकुमारी को ₹10 करोड़ तोहफे में दिए हैं। 

दुनियाभर के राजसी घरानों का नियम होता है कि अगर कोई राजकुमारी किसी आम आदमी से शादी करे तो उन्हें अपना शाही रुतबा छोड़ना पड़ता है। और इसी नियम का पालन करते हुए अयाको को अपना शाही दर्जा छोड़ना पड़ा। हालाँकि शाही घरानों के राजकुमार के लिए ऐसा नियम नहीं होता वो आम लड़की से शादी कर सकते हैं और उस लड़की को राजकुमार की पत्नी के नाते शाही रुतबा मिल जाता है । 

 

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds