ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी का कहना है कि परमाणु समझौते से अमेरिका के बाहर निकलने से किसी को भी लाभ नहीं होगा। समझौते से अमेरिका के बाहर निकलने से न ही वाशिंगटन को और न ही किसी अन्य देश को लाभ होगा।

उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यदि समझौते से जुड़े अन्य देश समझौते का सम्मान करें तो ईरान इस पर कायम रहेगा और सहयोग जारी रखेगा।

रूहानी यूरोपीय देशों के दौरे के दूसरे चरण के तहत बुधवार को वियना में थे। अमेरिका, ईरान पर दोबारा प्रतिबंध लगा रहा है तो ऐसे में रूहानी देश के हितों को सुरक्षित रखने के लिए ईयू देशों से समर्थन मांग रहा है।

गौरतलब है कि 2015 में ईरान ने अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस, चीन और जर्मनी के साथ एक ऐतिहासिक परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। इसके तहत ईरान को अपने परमाणु हथियार कार्यक्रमों पर रोक लगानी है बदले में उस पर लगे प्रतिबंधों में ढील दी जाएगी।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आठ मई को इस समझौते से बाहर निकल गए थे और ईरान पर दोबारा प्रतिबंध लगाने की प्रतिबद्धता जताई थी।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds