अभी हाल ही में गूगल के सीईओ सुन्दर पिचई को डाटा लीक मामले के लिए अमेरिकी समिति के सामने पेश होना पड़ा था। फेसबुक और ट्विटर से डाटा लीक होने के बाद अब गूगल की नेटवर्किंग साइट गूगल प्लस से 5 करोड़ से ज्यादा उपभोक्ताओं का डाटा लीक हुआ है और सुरक्षा के मद्देनजर गूगल प्लस ने इसे बंद करने का फैसला किया है। 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Visiting #google #mountainview #california #summer16

A post shared by Giuseppe Cardini (@becardini) on

सबसे पहले अक्टूबर की शुरुआत में गूगल ने यह खुलासा किया था कि एक सुरक्षा बग की वजह से पांच लाख उपयोकर्ताओं की जानकारी लीक हो गयी है जिसके बाद कंपनी ने इसे अगस्त 2019 तक बंद करने का फैसला  किया था। 

लेकिन सोमवार को ब्लॉग पर पोस्ट करते हुए गूगल ने जानकारी दी की गूगल प्लस में दूसरी बार नवंबर में सॉफ्टवेयर अपडेट के दौरान बग मिलने से दोबारा 5 करोड़ 25 लाख लोगों की जानकारी लीक हुई है जिसमें उपयोकर्ताओं के नाम, पता, व्यवसाय और इ-मेल शामिल हैं। दोबारा इतनी बड़ी संख्या में जानकारी लीक होने के बाद गूगल ने इसे चार महीने पहले यानी अप्रैल 2019 को बंद करने का फैसला किया। 

ज़ी सुइट प्रोजेक्ट मैनेजमेंट के वाईस प्रेजिडेंट डेविड ठाकेर ने कहा कि इस जानकारी को निजी तौर पर इस्तेमाल नहीं किया गया है। लेकिन फिर भी उपयोकर्ताओं की इसमें काफी अहम् जानकारियां शामिल हैं और हम प्रभावित लोगों को इस बारे में सूचना दे रहे हैं। 

दरअसल गूगल ने फेसबुक को टक्कर देने के लिए 7 साल पहले 2011 में गूगल प्लस की शुरुआत की थी। हालाँकि यह फेसबुक को चुनौती देने में नाकाम रहा। 

 

Share

वीडियो