जेरूसलम, मई 15 (आईएएनएस). अमेरिका ने सोमवार को गाजा सीमा पर भारी रक्तपात के बीच जेरूसलम (Jerusalem) में अपना दूतावास खोल दिया। गाजा सीमा पर इजरायली सेना द्वारा की गई गोलीबारी में 41 फिलिस्तीनी (Philistines) मारे गए।

दूतावास उद्घाटन समारोह में एक अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल ने हिस्सा लिया, जिसमें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दामाद जारेड कुशनर (Jared Kushner), बेटी इवांका ट्रंप (Ivanka Trump) और राजकोष मंत्री स्टीव मनुचिन (Steven Mnuchin) शामिल थे।

ट्रंप ने पूर्व में रिकार्ड किए गए एक वीडियो के जरिए समारोह को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि जेरूसलम पहुंचना लंबे समय से लंबित था।

उन्होंने कहा, इजरायल एक संप्रभु राष्ट्र है और उसे अपनी राजधानी तय करने का अधिकार है, लेकिन कई वर्षो से हम इसे मान्यता नहीं दे पा रहे थे।

उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका एक अंतिम शांति समझौता सुनिश्चित कराने के लिए बचनबद्ध है।

सोमवार को इजरायल से लगी गाजा पट्टी की बाड़ पर मारे गए लोगों की संख्या इजरायली सेना और हमास के बीच 2014 से शुरू लड़ाई के बाद किसी एक दिन में मारे गए लोगों की सर्वाधिक संख्या है।

गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, मारे गए लोगों में एक 12 वर्षीय, और एक 14 वर्षीय शामिल है। इसके अलावा कई सारे लोग घायल हो गए हैं।

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds