महाराष्ट्र सरकार के सहयोग, विपणन और वस्त्रोद्योग विभाग ने दक्षिण नागपुर के उमरेड रोड स्थित हरपुर में टेक्सटाइल विश्वविद्यालय शुरू करने का प्रस्ताव रखा है। प्रस्ताव स्वीकार किये जाने पर यह देश का अपनी तरह का पहला टेक्सटाइल विश्वविद्यालय होगा। इस विद्यालय में पावर लूम, हैंडलूम, कटाई मिल, रेशम और होजयरी पर पाठ्यक्रम शुरू किये जायेंगे। 

No automatic alt text available.
Credit : Facebook

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की खबर की अनुसार राज्य निगम की दो एकड़ की भूमि पर इस विश्वविद्यालय का निर्माण किया जायेगा। जिसके लिए नागपुर सुधार प्रन्यास को इस विश्वविद्यालय की योजना और निर्माण के लिए नोडल एजेंसी नियुक्त किया गया है। 

अभी हाल ही में हुई नागपुर सुधार प्रन्यास की बैठक में हरीश चांदानी को इस प्रोजेक्ट के लिए आर्किटेक्ट और सलाहकार नियुक्त किया गया है। वहीं  राज्य के वस्त्र सचिव अतुल पाटने के अनुसार विश्वविद्यालय को सही तरीके से शुरू करने हेतु विभाग अंतरराष्ट्रीय स्तर की संस्था को आमंत्रित करने की योजना बना रही है। 

80 प्रतिशत हस्तकरघा उद्योग महाराष्ट्र में स्थित हैं। इसलिए राज्य में टेक्सटाइल विश्वविद्यालय इस क्षेत्र को काफी हद तक प्रोत्साहित करेगा। फिलहाल कुछ विद्यालयों में टेक्सटाइल से संबधित पाठ्यक्रम चल रहे हैं लेकिन टेक्सटाइल के लिए पूरी तरह समर्पित विश्वविद्यालय एक भी नहीं है। 

देश में वस्त्र उद्योग से संबधित हैंडलूम, स्पिनिंग, मिल्स, होजियरी संबधित पाठ्यक्रमों का अभाव है। अगर कोई विद्यार्थी इस विषय में कौशल हासिल करना चाहता है तो,आयआयटी, पॉलीटेक्निक या इंजीनियरिंग कॉलेज में यह पाठ्यक्रम ही उपलब्ध नहीं है। प्रस्ताव स्वीकार किये जाने पर यह सभी पाठ्यक्रम टेक्सटाइल विश्वविद्यालय में उपलब्ध होंगे। 

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds