बढ़ते ग्लोबल वार्मिंग की वजह से दुनिया भर के जलाशयों पर खतरा मंडराता जा रहा है। एक रिपोर्ट के अनुसार दुनिया भर में जलाशय तेज़ी से सिकुड़ते जा रहे हैं। एनबीटी की एक खबर के अनुसार, शहरीकरण और कृषि के बेहद तेजी से विस्तार के चलते 1970 से 2015 के बीच 35 फीसदी जल स्रोत जैसे झील, नदियां, दलदल और खाड़ियां खत्म हुईं हैं।

दुनिया की इकोसिस्टम के लिए बेहद महत्वपूर्ण माने जाने वाले जलस्रोत दुनिया भर में 12 मिलियन स्क्वेयर किलोमीटर में फैले हुए हैं। लेकिन, 2000 के बाद इनकी संख्या में कमी होने की दर में तेजी से इजाफा हुआ है।

खबरों के अनुसार, रामसर कन्वेंशन के मुखिया मार्ठा रोजास उरेगो ने दुनिया के वेटलैंड्स पर पहली रिपोर्ट तैयार की है। इस रिपोर्ट में उन्होंने कहा है कि पृथ्वी पर जंगलों से भी तीन गुना तेजी से नमी वाली भूमि यानी वेटलैंड्स में कमी आ रही है। 

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds