कभी सोचा है, जिम में पसीना बहाने से या मेहनत करने से से भी आपका दिमाग़ दुरुस्त हो सकता है? नहीं न? तो अब सोच लीजिए क्योंकि हाल ही में हुए एक शोध में पता चला है कि, बलवान लोगों का न सिर्फ शरीर तंदरुस्त रहता है बल्कि उनका मस्तिष्क भी तेज़ काम करता है।

दरअसल, सिजोफ्रेनिया बुलेटिन नामक पत्रिका ने हाल ही में करीब पांच लाख लोगों पर एक शोध किया, जिसमें खुलासा हुआ कि शक्तिशाली लोग मस्तिष्क संबंधी कामकाज़ में अन्य लोगों के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन करते हैं। शोध में यह भी कहा गया है कि आपकी मांसपेशीय शक्ति भुजा की ताकत से आंकी जाती है, जो आपके स्वस्थ दिमाग का संकेत देता है।

न्यूज़ एजेंसी आईएएनएस की एक खबर की मानें तो ऑस्ट्रेलिया के वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय के एनआईसीएच स्वास्थ्य अनुसंधान संस्थान के शोध के सह-लेखक जोसेफ फिर्थ ने कहा, “हमारा शोध इस बात की पुष्टि करता है कि मजबूत लोग वास्तव में बेहतर कामकाजी दिमाग रखते हैं।”

ब्रिटेन के 475,397 प्रतिभागियों के आंकड़ों का उपयोग करते हुए इस नए शोध से पता चलता है कि औसत रूप से बलवान लोगों ने दिमागी कामकाज परीक्षणों में बेहतर प्रदर्शन किया। इन परीक्षणों में प्रतिक्रिया की गति, तर्क संबंधी समस्याओं का हल व स्मृति से जुड़े अलग-अगल तरह के प्रशिक्षण शामिल थे।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds