शोधकर्ताओं ने एक थेरेपी विकसित की है, जो मादक पदार्थो के सेवन से दिमाग को होने वाले रासायनिक असंतुलन को दूर करने में मदद कर सकती है और भविष्य में मादक पदार्थों के आदी लोगों को ठीक करने व इसके सेवन से बचने में मदद कर सकती है।

शोध के निष्कर्षो के अनुसार, इस नई थेरेपी का जब चूहों पर परीक्षण किया गया तो इसे जानवरों में लत कम करने में प्रभावी पाया गया। इस निष्कर्ष को जर्नल ऑफ मेडिसिनल केमिस्ट्री में प्रकाशित किया गया है।

जब भी कोई व्यक्ति आदतन मादक पदार्थो का सेवन करता है, उसके दिमाग के रसायन इस तरीके से बदल जाते हैं कि वह नकारात्मक परिणामों के बावजूद मादक पदार्थ छोड़ नहीं पाता है।

Smoking, Lighter, Dark, Cigarette, Tobacco, Cigar

किसी के दिमाग में यह विकृति एक बार विकसित हो जाने बाद उसका दिमाग मादक पदार्थ सेवन करने की तरफ तेजी से ध्यान देता है, जिससे उसका खुद को रोक पाना मुश्किल हो जाता है।

इन बदलावों के लिए सिरोटोनिन एक प्रमुख भूमिका निभाता है। यह एक दिमागी रसायन है, जो तंत्रिका क्षेत्र में सूचनाएं फैलाता है।

शोधकर्ताओं ने पाया है कि मादक पदार्थ के आदी लोगों में सेरोटोनिन 2सी रिसेप्टर ठीक प्रकार से कार्य नहीं करता, जैसा कि उसे करना चाहिए।

Alcohol, Alcoholic, Bar, Blur, Bottle, Celebration

अमेरिका के गल्वेस्टोन स्थित टेक्सास विश्वविद्यालय की चिकित्सा शाखा के शोधकर्ताओं की अगुआई वाली टीम ने कमजोर संकेतकों को बहाल करने के लिए छोटे अणु वाले चिकित्सा पदार्थों की एक श्रृंखला डिजाइन की और इसका संश्लेषण किया तथा इसका औषधीय रूप से मूल्यांकन किया।

निष्कर्षो से पता चला है कि नई थेरेपी से मादक पदार्थो के आदी लोगों के दिमाग के रासायनिक असंतुलन को ठीक करने में मदद मिल सकती है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds