नेशनल ज्योग्राफिक (National Geographic) प्लास्टिक के नुकसान के प्रति लोगों को जागरूक करेगा। इस मकसद से विश्व पर्यावरण दिवस पर नेशनल ज्योग्राफिक ने सिंगल-यूज प्लास्टिक के नुकसान से निपटने की कोशिश में पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के साथ अपनी भागीदारी का एलान किया।

नेशनल ज्योग्राफिक एवं फॉक्स नेटवर्क्स ग्रुप, इंडिया की बिजनेस प्रमुख स्वाति मोहन ने एक विज्ञप्ति में कहा, नेशनल ज्योग्राफिक की पहल “प्लास्टिक ऑर प्लेनेट” (Plastic or Planet) को पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय का साथ मिलने से हम बेहद खश हैं। ऐसा देश जहां 40 फीसदी प्लास्टिक कचरे का प्रबंधन नहीं हो पाता है वहां यह समझना बेहद महत्वपूर्ण है कि पूरे इकोसिस्टम के लिए सिंगल-यूज प्लास्टिक कितना खतरनाक बन सकता है।

Garbage Can, Waste, Waste Bins, Recycle Bin, Garbage
Credit: Pixabay

विश्व पर्यावरण दिवस पर विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम के दौरान नेशनल ज्योग्राफिक मैगजीन के पहले प्लास्टिक कवर रहित अंक का सोमवार को पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री हर्षवर्धन ने विमोचन किया। मैगजीन के इस अंक की कवर स्टोरी “प्लेनेट ऑर प्लास्टिक’ है।

Pollution, Drina, Plastic Waste, Natural Pollution
Credit: Ppixabay

स्वाति मोहन ने कहा, उत्पादन गतिविधियों, दफ्तरों और मैगजीन वितरण के मोर्चे पर हमने सिंगल-यूज प्लास्टिक को हटाने का फैसला किया है और हमें आशा है कि इन समन्वित प्रयासों से हम अपनी प्लास्टिक की खपत में करीब 70 फीसदी की कमी लाने में कामयाब होंगे।

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds