हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने रविवार को कहा कि हिमाचल प्रदेश में करीब 27 फीसदी युवा मादक पदार्थो की लत से पीड़ित हैं और राज्य को मादक पदार्थो से मुक्त करने के लिए सामूहिक रूप से कदम उठाना जरूरी है।

जयराम ठाकुर ने आठवें हिमाचल प्रदेश पुलिस हॉफ मैराथन 2018 के पुरस्कार वितरण समारोह में कहा, मादक पदार्थो की लत सामाजिक बुराई है, जिस पर नियंत्रण के लिए लोगों की भागीदारी की जरूरत है।

मैराथन आयोजित करने के लिए पुलिस के प्रयासों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि मादक पदार्थो के खतरे को पूरी तरह समाप्त करने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए। मुख्यमंत्री ने मादक पदार्थो के व्यापार में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त जुर्माना लगाए जाने की बात कही।

पुलिस महानिदेशक एसआर मार्डी ने कहा कि पुलिस राज्य की मादक पदार्थ मुक्त करने के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए एक विशेष अभियान शुरू किया गया है।

उन्होंने कहा कि इस साल मादक पदार्थ बेचने वालों से 230 किलो चरस जब्त किया गया है। पुलिस ने मादक पदार्थ के बुरे प्रभावों के बारे में 600,000 से ज्यादा लोगों को जानकारी दी है।

इस बीच 21.5 किमी के हॉफ मैराथन के पुरुष श्रेणी में हेत राम विजयी रहे, जबकि महिला श्रेणी में रीतू ने जीत दर्ज की। दस किमी के मिनी मैराथन के पुरुष वर्ग में विजय कुमार व महिला वर्ग में अमनदीप कौर विजयी रहीं।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds