लगातार रूपए की कीमतों में हो रही गिरावट को ध्यान में रखते हुए सरकार ने सितंबर में 19 सामानों के आयात शुल्क बढ़ाने के साथ ही अब टेलिकॉम के उपरकरणों पर भी शुल्क बढ़ा दी है। शुल्क बढ़ाने का कारण चालू खाते के घाटे को कम करना है। शुल्क बढ़ाने के साथ ही उत्पाद के कीमतों में भी वृद्धि होगी।

 

नवभारत टाइम्स की खबर के अनुसार, शुल्क की बढ़ोतरी के इस कदम से रूपए की गिरती कीमत पर भी नियंत्रण होगा और साथ ही सरकार का राजस्व भी 4000 करोड़ बढ़ जाएगा।

तो चलिए, एक नजर डालते हैं उन सामानों पर जिनकी कीमतों में आयात शुल्क की बढ़ोतरी से उछाल आएगा। जिन चीजों की कीमतें बढ़ेंगी वे हैं, मोबाइल फोन, वॉशिंग मशीन, जूलरी, फ्लाइट, एयर कंडीशनर और रेफ्रिजरेटर, सैनेटरी वेअर और प्लास्टिक के सामान।

 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Originally posted by @applesfresh iPhone Xs Max vs 8 Plus Photo by @mayflashfly

A post shared by Smartphone Accessories Geek (@mysmartphonelife) on

मोबाइल फोन पर आयात शुल्क 10 से बढ़कर 20 प्रतिशत, 10 किलो से कम वाली वॉशिंग मशीन पर 10 प्रतिशत से बढ़कर 20 प्रतिशत, जूलरी पर 15 प्रतिशत से बढ़कर 20 प्रतिशत, एयर कंडीशनर और रेफ्रिजरेटर पर 10 प्रतिशत से 20 प्रतिशत और सैनेटरी वेअर और प्लास्टिक के सामान पर 10 प्रतिशत से बढ़कर 20 प्रतिशत कर दी गई है। इसके अलावा ब्रीफकेस, सूटकेस और ट्रैवस बैग पर भी शुल्क बढ़ा दी गई है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds