अमेरिकी (America) पत्रिका फॉर्च्यून (Fortune) की दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से शीर्ष 500 कंपनियों की 2018 सूची में सात भारतीय कंपनियों को शामिल किया गया है, जिसमें सरकारी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसी) भारत की शीर्ष रैंकिंग कंपनी के रूप में शामिल है, तथा रिलायंस इंडस्ट्रीज (आईआईएल) ने अपनी स्थिति सुधारी है।

अमेरिकी खुदरा दिग्गज वालमार्ट इस सूची में शीर्ष पर है, जबकि भारतीय कंपनी इंडियन ऑयल पिछले साल 168वें स्थान से बढ़कर 137वें स्थान पर रही।

 

फॉर्च्यून ने कहा, “दुनिया की 500 सबसे बड़ी कंपनियों ने 2017 में 19,000 अरब डॉलर का राजस्व अर्जित किया तथा इस साल फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कंपनियों ने कुल 6.77 करोड़ लोगों को रोजगार दिया और हमारी उपस्थिति 33 देशों में है।”

मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली कंपनी आरआईएल का मुख्य कारोबार तेल और गैस है, हालांकि कंपनी रिलायंस जियो के माध्यम से दूरसंचार क्षेत्र में भी कारोबार करती है। यह भारत की शीर्ष निजी कंपनी है, जो इस सूची में शामिल थी। कंपनी इस साल 53 स्थानों के सुधार के सात 148वें नंबर पर रही, जबकि पिछले साल यह 203 वें नंबर पर थी।

सरकारी तेल और प्राकृतिक गैस कॉर्प (ओएनजीसी) का नाम 2017 की सूची में नहीं था, लेकिन इस साल कंपनी फोर्ब्स 500 सूची में 197वें स्थान पर रही।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds