केंद्रीय चीन (China) के ग़रीब-व्यथित क्षेत्र में एक सड़क, जिसकी कीमत सरकारी ग़रीब-राहत कोष में करीब 1.6 अरब युआन (Yuan) (लगभग US$250 मिलियन) है, हाल ही में इसके लापरवाही से निमार्ण करने का खुलासा हुआ है।

जीवन स्तर में भारी सुधार के बावजूद, चीन का बड़ा हिस्सा अब भी ग़रीबी में रहता है। विश्व बैंक (World Bank) के आंकड़ों के अनुसार लगभग 493 मिलियन, या चीन की आबादी का 36 प्रतिशत, अब भी प्रतिदिन US$5.50 या उससे भी कम में गुजारा करता है। शासन के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, वर्तमान में 43 मिलियन से अधिक लोग प्रत्येक दिन 95 सेंट (₹62) या उससे कम पर जीवन व्यतीत करते हैं।

चीनी नेता शी जिनपिंग (Xi Jinping) की मूल नीति लक्ष्यो में से एक है, 2020 तक पूरी तरह गरीबी उन्मूलन करना। चीनी शासन ने ग़रीबी-से आक्रांत क्षेत्रों की सहायता करने के लिए स्थानीय सरकारों को ग़रीब-राहत धनराशि वितरित की है।

जेडा (Zheda) राजमार्ग स्थानीय बुनियादी ढाँचा परियोजना थी जिसका मतलब था कि गरीबी-ग्रस्त लिनशिया (Linxia) प्रांत के डोंगजियांग (Dongxiang) देश को, गांसु (Gansu) प्रदेश, इन दोनों को पास के शहरों लिनशिया शहर और लान्ज़ो (Lanzhou) शहर से जोड़ा जाएगा।  7,060 ft लम्बे राजमार्ग का निर्माण अगस्त 2009 में शुरू हुआ था और यह अक्टूबर 2011 में पूरा हुआ।

चीनी समाजवादी पार्टी (CCP) के प्रसारण-कर्ता प्रवक्ता सीसीटीवी (CCTV) ने अप्रैल 1 को बताया कि जैसा कि सड़क पूरी हो चुकी है, कई निवासियों ने इसकी ख़राब गुणवत्ता की शिकायत की है। स्थानीय लोग इसे “कमजोर सड़क” कहते हैं। पिछले वर्ष राजमार्ग के ढहने के बाद, स्थानीय अधिकारियों ने जांच की, जिसमें सामने आया कि काओल (Kaole) सुरंग—जो राजमार्ग का हिस्सा है—उसमें गंभीर सुरक्षा समस्या थी: वास्तविक ख़ाके में दो-स्तरीय स्टील (Steel) सलाखों को एक-स्तरीय स्टील सलाखों के साथ प्रतिस्थापित कर दिया गया।‌

सीसीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, प्रासंगिक सरकारी अधिकारियों ने अनुरोध किया था कि सुरंग को मरम्मत के लिए बंद किया जाए। गांसु प्रांत के राजमार्ग प्रशासन विभाग ने एक रिपोर्ट जारी कर के दावा किया था कि नवंबर 10, 2017 को मरम्मत हेतु निर्माण शुरू हो गया था, जो नवंबर 28 को पूरा हो जाएगा। हालांकि, स्थानीय लोगों ने बताया कि सुरंग ना ही बंद हुई और ना ही इसकी मरम्मत की गई।

काओल सुरंग के अंदर, रोडबेड और दिवारों पर एक सेंटीमीटर जितनी चौड़ी दरारें उभर आई है। हालांकि उन दरारों को भरा नहीं गया। उन पर महज़ रंगाई-पुताई कर दी गई, रिपोर्ट के अनुसार।

बीजिंग (Beijing) स्थिति मासिक पत्रिका, चीनी पत्रिका बाई शिंग (Bai Xing), प्रकाशन— चीनी में इसके नाम का वास्तविक अर्थ “आम लोग” है—यह चीन में सामाजिक घटनाओं और नागरिक अधिकारों के मुद्दों पर मुख्यता रिपोर्ट करता है,  इसके पूर्व-संपादक, हुआंग लियांगटियन (Huang Liangtian) ने कहा कि इस तरह की लापरवाही, तथाकथित गरीबी-राहत के स्थानीय प्रभारी अधिकारियों के बीच भ्रष्टाचार के नतीजे से है।

“अधिकारी पैसे लेते हैं और ठेकेदार भी पैसे लेते हैं,” हुआंग ने अप्रैल 4 को न्यू तांग डायनेस्टी टेलीविजन (NTD) को बताया। यह चीनी प्रसारक द इपोक टाइम्स (The Epoch Times) का सहायक मीडिया है।

“यह चीन में बहुत ही आम घटना है। क्योंकि यह परियोजनाएं गरीबी उन्मूलन के नाम पर है, इसलिए लोग अधिक संवेदनशील होते हैं और यह मीडिया का ध्यान आकर्षित करती है। दरअसल, चीन में व्यावहारिक रूप से सभी निर्माण परियोजनाएं भ्रष्टाचार में लिप्त है,” उन्होंने कहा।

अगस्त 22, 2016 को चीन के गांसु प्रांत (Gansu Province), जांगये Zhangye में लगातार भारी बारिश के कारण चीन राष्ट्रीय राजमार्ग 227 की सड़क का मध्य खंड ढह गया। (Wang Jiang/VCG)

वर्तमान में, गांसु प्रांत राजमार्ग प्रशासन विभाग (Gansu Province Highway Administration Bureau) के डिप्टी प्रमुख, शाउ शूजू (Zhao Shuxue), राजमार्ग प्रशासन विभाग के भीतर निर्माण विभाग के प्रमुख और उप प्रमुख, लियाओ हेडोंग (Liao Haidong) और यांग एमीन (Yang Aimin), के साथ तीन अन्य अधिकारियों को उनके पदों से निलंबित कर दिया गया है, जांच अभी अपूर्ण है।

तियान चीझुआंग (Tian Qizhuang), चीन के मौजूदा मामलों पर चीन आधारित स्वतंत्र टिप्पणीकार ने एक साक्षात्कार में एनटीडी (NTD) को बताया कि चीनी शासन के ग़रीबी उन्मूलन की पहल में वास्तव में नागरिकों की सहायता करने के निराशाजनक परिणाम सामने आए हैं।

विशेष नीतियां क्या है? वह न तो पारदर्शी है, और न ही  (प्रभावशीलता के लिए) उनपर नज़र रखी जाती है। हमें पता नहीं चलता है कि (सरकारी कोषों)  का पैसा कहां खर्च होता हैं, परियोजनाएं पूरी होती भी है या नहीं, और उन्हें पूरा करने की ज़िम्मेदारी कौन लेता है,” टियांन ने कहा।

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds