इस युवा दंपति की खुशी अपनी नन्ही बच्ची के जन्म के बाद जल्दी ही निराशा में बदल गई थी। उन्हें एहसास हो गया कि निश्चित रूप से उसके साथ कुछ तो ग़लत था।

22 वर्षीय शाइस्ता ज़ाहिदा (Shaista Zahida) और उनके पति श्रीमान बलोच (Mr. Baloch) का सामना एक भयावह स्थिति से होने वाला था। उनकी नवजात बच्ची, जिसका नाम उन्होंने लारेब (Laraib) रखा था, वह एक मर्मभेदी स्थिति को छोड़कर पूरी तरह से सामान्य थी। उसका दिल वास्तव में उसके शरीर के बाहर था हालांकि, वह सामान्य रूप से धड़क रहा था।

इस स्थिति को एक्टोपिया कॉर्डिस (ectopia cordis) के रूप में जाना जाता है और यह एक अत्यंत दुर्लभ आनुवंशिक दोष है जो केवल 126,000 बच्चों में से एक को प्रभावित करता है।

Youtube screenshot | Caters TV

इनमें से अधिकांश बच्चे केवल कुछ दिनों तक ही जीवित रहते हैं लेकिन नन्ही लारेब सभी कठिनाइयों का डटकर सामना कर रही है और लगता है कि वह अपने जीवित रहने के लिए दृढ़ है।

Youtube screenshot | Caters TV

लाहौर में बच्चों के अस्पताल के डॉक्टर उसे जीवित रखने के लिए प्रयास कर रहे है लेकिन उनका मानना है कि उसके ह्रदय को वापस उसके शरीर के अंदर लगाने के लिए एक सुधारात्मक सर्जरी किये जाने की आवश्यकता है। यह नाजुक ऑपरेशन पाकिस्तान (Pakistan) में उपलब्ध नहीं है और उसे जीवित रखने की इकलौती उम्मीद केवल यूरोप (Europe) में उसकी सर्जरी करवाने पर टिकी हुई है।

लारेब के माता-पिता पाकिस्तानी सरकार से अपनी बेटी को इस आवश्यक सर्जरी के लिए विदेश भेजने के लिए मदद करने की अपील कर रहे हैं।

Youtube screenshot | Caters TV

श्रीमान बलोच ने कहा, “डॉक्टरों ने मुझे बताया कि ऐसी स्थिति के लिए इलाज किसी भी यूरोपीय देश में उपलब्ध होगा। मैं पाकिस्तान और पंजाब सरकारों से मेरी सहायता करने के लिए अपील कर रहा हूं। वह सामान्य दिखती है लेकिन हम चिंतित हैं कि भविष्य में हमारी बच्ची का क्या होगा जैसा कि डॉक्टरों ने हमें बताया है कि ऐसी स्थिति के लिए इलाज पाकिस्तान में उपलब्ध नहीं है।”

डॉ. इब्राहिम अंसारी (Ibrahim Ansari), जो लारेब का इलाज कर रहे हैं, वे बताते हैं कि यह पहली बार है जब उन्होंने इस स्थिति के साथ जन्मे एक बच्चे को देखा है। डॉ. अंसारी ने कहा, “लेकिन अभी भी कुछ उम्मीद बाकी है। यदि बाल शल्य-चिकित्सक ऑपरेशन के बाद इस बच्ची के दिल को वापस छाती में लगा दें तो उसका जीवन बच सकता है।”

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds