हाल ही में फ्रांस एयरलाइनस ने एक भारतीय डॉक्टर को सम्मानित किया। इसका कारण था प्रभुलिंगास्वामी संगनालमाथ जो पेशे से डॉक्टर हैं, उन्होंने पेरिस से बैंगलौर की यात्रा के दौरान अपने एक सहयात्री की जान बचाई, अगर वक्त पर वो उनकी मदद नहीं करते तो उनकी जान भी जा सकती थी।

द हिंदू के अनुसार, भारत के कर्नाटक राज्य के मैसूर 69 वर्षीय निवासी डॉक्टर प्रभुलिंगास्वामी संगनालमाथ एयर फ्रांस की फ्लाइट में पेरिस से बैंगलौर की यात्रा कर रहे थे। तभी अचानक उनके यूरोपियन सहयात्री बेहोश हो गए। इसे देख प्रभुलिंगास्वामी ने तुरंत क्रू मेंबर से संपर्क किया और उन्हें स्थिति की जानकारी दी।

लेकिन संयोग से उस फ्लाईट में वे अकेले डॉक्टर थे और क्रू मेंबर में एक नर्स थीं जिन्होंने इलाज के दौरान उनकी मदद की। उन्होंने बताया कि उस व्यक्ति की न तो सांसे चल रहीं थीं और न ही धड़कन। उन्होंने उन्हें तुरंत हृद्मर्दन (cardiac massage) दिया और वापिस सांस चलने की प्रक्रिया शुरू की।

डॉक्टर के प्रयास के कुछ ही घंटों के बाद वह व्यक्ति पुनः सांस लेने में सक्षम हो पाया। फिर उन्हें जूस पिलाया गया। फ्लाईट के बैंगलौर पहुंचने पर उन्हें एयरपोर्ट क्लिनिक में भर्ती किया गया। फ्लाइट के कैप्टन और बाकी के लोगों ने डॉक्टर प्रभुलिंगास्वामी को धन्यवाद किया। इस घटना के कुछ दिनों के  बाद ही डॉक्टर प्रभुलिंगास्वामी को संदेश प्राप्त हुआ कि उन्हें एयर फ्रांस ने 100 यूरो का वाउचर सम्मान स्वरूप प्रदान किया है।

Share

वीडियो