2015 में इस बच्चे के पहले जन्मदिन के कुछ समय बाद ही उसकी आँखें सूज गईं और चिकित्सकों ने इसे साधारण सूजन बताया। अब दो साल के बाद, बच्चा अपनी ज़िन्दगी के लिए लड़ रहा है क्योंकि अब यह ट्यूमर उसकी पूरी आँख को घेर चुका है।

मार्च 2015 में पापुआ न्यू गिनी (Papua New Guinea) के बोंग्रे ऐनटन पीटर (Bongre Anton Peter) में प्रारंभिक रेटिनो ब्लास्टोमा के लक्षण पाए गए। यह एक तरह का कैंसर है जो बच्चों की अविकसित आँख की कोशिकाओं में पनपता है। लेकिन जब बच्चे के चिंतित अभिभावक उसे चिकित्सक के पास ले गए तब चिकित्सकों ने उसे आँख में डालने और दर्द कम करने के लिए साधारण दवाइयाँ दे दी।

करीब एक साल तक बोंग्रे के माता-पिता ने इलाज करवाया, पर जब दवा से कुछ नहीं हुआ तो वे उसे काले जादू की मदद से ठीक कराने के लिए दूरस्त ईस्टर्न हाइलैंड ले गए। आदिवासी उपचार के तरीकों से भी बच्चा ठीक नहीं हुआ और 2016 मार्च तक बच्चे की आँख का ट्यूमर एक टेनिस की गेंद की बराबर बड़ा हो गया जो उसकी दाईं आँख से लगभग 10 सेंटीमीटर बहार निकल गया था।

अब चिकित्सकों ने उसके माता-पिता को चेतावनी दी है कि कैंसर उसकी बाईं आँख में फ़ैल रहा है और उसे जीने के लिए जीवन-रक्षक रेडियोथेरेपी की ज़रूरत है।

पापुआ न्यू गिनी की सक्रीय सोशल मीडिया कम्युनिटी ने इस दुःख में डूबे परिवार की मदद की। माइकल विलियम, पोर्ट मोरेस्बी में स्थापित सिम्बु चिल्ड्रेन फाउंडेशन जो बीमार बच्चों की मदद करती है, उसके सदस्य हैं, उन्होंने कहा,”जब मैंने बोंग्रे की फोटो देखी तो मुझे बुरा लगा, मुझे लगा वह बच्चा बहुत ही दर्द में है।” “पर वास्तव में वह साधारण ज़िन्दगी ही जी रहा है क्योंकि उसे नहीं पता कि कैंसर का ट्यूमर क्या है। उसे यह लगता है कि उसकी आँख सिर्फ सूजी हुई है।” “बोंग्रे अभी भी पीड़ित है पर वह अब उतना कमज़ोर नहीं है जितना पहले था। वह चुस्त दुरुस्त है, उससे मिलकर बात की जा सकती है। वह अपने पिता के साथ घूमता है।”

Credit: Facebook | Cath Porter

कैथ पोर्टर एक ऑस्ट्रलियाई हैं जो पोर्ट मोरेस्बी में ट्वीवी वकीलों के लिए काम करते हैं, इन्होंने फेसबुक पर सेव बोंग्रे फेसबुक पेज बनाया। अब इस पेज पर 2500 से ज्यादा सदस्य हैं और इससे सीटी स्कैन के लिए $1500 मिले।

लेकिन दुर्भाग्यवश, स्कैन से और भी बुरी खबर मिली कि बोंग्रे की बाईं आँख में भी ट्यूमर बन रहा है। अब बच्चा पोर्ट मोरेस्बी अस्पताल में प्रशामक उपचार प्राप्त कर रहा है, जबकि उसका परिवार रेडिएशन उपचार के लिए ऑस्ट्रेलिया में पैसा इकठ्ठा कर रहा है।

पिछले कुछ दिनों में लोगों ने काफ़ी बड़ी मात्र में दान किया है और $5000 से अधिक पैसा एकत्र हो गया है। ऑपरेशन स्माइल ऑस्ट्रेलिया एक संगठन है जो विकाशील देशों में विकृत चेहरे वाले बच्चों की मदद करती है और अब यह बोंग्रे के मामले को देख रही है। जबकि ब्रिस्बने में लेडी सिलेंटो चिल्ड्रेन्स हॉस्पिटल में चिल्ड्रेन्स हेल्थ क़ुईन्सलैंड ओफ्थाल्मोलोजी विशेषज्ञ बोंग्रे का मामला देख रहे हैं और पापुआ न्यू गिनी के चिकित्सकों के संपर्क में हैं। “पोर्ट मोरेस्बी में ईएमटीवी के साथ एक साक्षात्कार के दौरान बोंग्रे की माँ ने कहा,”अब मुझे मदद मिल रही है मैं बहुत खुश हूँ।” “भगवान इस लोगों पर अपनी कृपा बनाए रखे।”

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds