हिमांशु जैन एक बहुत कुशल और अनुभवी व्यक्ति हैं जिन्हें अमेज़न से 22 लाख की नौकरी का प्रस्ताव मिला, लेकिन उन्होंने उस प्रस्ताव को ठुकरा दिया क्योंकि वह अपने देश के लिए कुछ करना चाहते थे. हाल ही में यू.पी.एस.सी. की परीक्षा के नतीजों की घोषणा हुई, जिसमें उन्होंने 44वां स्थान प्राप्त किया है.

हिमांशु ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया “मैंने अमेज़न में 3 महीने तक इंटर्न के रूप में कार्य किया. उस के बाद उन्होंने मुझे 22 लाख की नौकरी की पेशकश की. लेकिन मुझे अपनी इंटर्नशिप के दौरान ही पता चल गया था कि यह वो काम नहीं है जिसे मैं करना चाहता हूँ.”

Credit: Youtube Screenshot

हिमांशु ने हैदराबाद के इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (IIIT) से पोस्ट ग्रेजुएशन किया है. हिमांशु को अमेज़न और गूगल जैसी कंपनियों ने भी प्रलोभन देने का प्रयास किया.

बचपन से ही हिमांशु जनसेवा करना चाहते थे. हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार, उन्होंने रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया में मेनेजर के पद पर भी कार्य किया किन्तु उन की दिलचस्पी तो किसी और ही काम में थी.

उन्होंने कहा “मैंने हमेशा अपने अध्यापकों और परिवार वालों से सुना था कि कैसे एक IAS अफ़सर के पास देश को बदलने की ताकत होती है.”

हिमांशु ने यू.पी.एस.सी. की परीक्षा की तैयारी के लिए अपने शहर जींद छोड़ कर दिल्ली चले गए. पहले भी उन्होंने परीक्षा उतीर्ण करने के लिए दो बार प्रयास किया था, किन्तु वह तब असफल रहे थे लेकिन इस बार उन्होंने आख़िरकार वह हासिल कर ही लिया जो वह चाहते थे.

उन्होंने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया, “निबंध लेखन मेरे लिए सब से बड़ी चुनौती थी, और उस में मुझे बहुत कम अंक मिले थे. इसलिए मुझे अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए दो साल तक कठिन परिश्रम करना पड़ा.”

हमारे देश को ऐसे निस्सवार्थ नौजवानों की सख्त ज़रूरत है!

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds