दो जुड़वा लड़कियों, सफा और मारवा का जन्म उनके पिता की मौत के 10 दिन बाद हुआ था। दोनों के सिर आपास में जुड़े हुए थे। अब यह गरीब पाकिस्तानी परिवार मासूम जोड़े को अलग करने के लिए सफल ऑपरेशन की प्रार्थना कर रहा है।

पाकिस्तान में एक परिवार जुड़वा लड़कियों को बचाने के लिए चमत्कारी सफल ऑपरेशन की उम्मीद कर रहा है। सिर वाले हिस्से में दोनों का सिर एक-दूसरे से जुड़ा हुआ है। सफा और मारवा का जन्म इसी साल जनवरी में पेशावर के एक अस्पताल में हुआ है।

क्रेनियोपेगस (Craniopagus) जुड़वा, जिसका आशय है सिर से जुड़े जुड़वा बच्चे। ऐसी स्थिति करीब 2.5 मिलियन लोगों का जन्म होने पर एक बार बनती है। यदि क्रेनियोपेगस बच्चे जन्म के समय जिंदा बच जाते हैं और उन्हें 2साल के अंदर एक-दूसरे से अलग नहीं किया गया तो उनकी मौत की सम्भावना 80 प्रतिशत तक होती है।

मीडिया में आई ख़बरों के मुताबिक डॉक्टर शहजाद अकबर ने बताया, “जुड़वा लड़कियां सिर से जुड़ी थीं, लेकिन स्कैन से पता चला कि उनके मस्तिष्क अलग-अलग हैं, इसलिए हमें उम्मीद है कि ऑपरेशन से काम बन सकता है।” डॉ. अकबर एक सरकारी अस्पताल के चिकित्सा निदेशक हैं।

सफा और मारवा, इस  साल जनवरी में पैदा हुईं, दोनों के सिर एक-दूसरे में जुड़े हैं

YouTube Screenshot | DUB TV

डॉ. शहजाद अकबर के मुताबिक, जुड़वा बच्चों को अलग करने की प्रक्रिया “कठिन” हो सकती है, तो भी यह काम ऐसे मामलों के अनुभवी अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों के सहयोग से सहज होगा। कठिनाइयों के बावजूद, वह सफल ऑपरेशन की आशा कर रहे हैं।

YouTube Screenshot | DUB TV

चाहे जैसे भी हो, चिकत्सकों के आश्वासन के साथ नन्हीं सी लड़कियों के चाचा मुहम्मद सदाकत अपनी गरीब बहन की परेशानियों को लेकर काफी चिंतित हैं। जुड़वा की माँ जैनब बीबी ने अपने पति को खोया है। पति की मृत्यु के 10 दिन बाद ही जुड़वा लड़कियां सिर से जुड़ी पैदा हुईं, जो कि इस गरीब परिवार के लिए दोहरा सदमा था।

पति की मृत्यु के बाद बीबी, जो कि एक गृहणी हैं, उसके ऊपर पांच और संतानों के पालन-पोषण का भार आ गया, इससे पहले उनके पति परिवार का सारा बोझ उठाते थे।

YouTube Screenshot | DUB TV

सदाकत ने कहा, “हम परिवार के भविष्य को लेकर चिंतित हैं। हम ईश्वर से प्रार्थना कर रहे हैं वो दया दिखाए और कोई चमत्कार हो”।

उन्होंने आगे कहा, “हम नहीं जानते हैं कि क्या करना है। डॉक्टरों ने पहले कहा था कि वे ऑपरेशन करेंगे, अब वह बता रहे हैं कि यह कठिन होगा। हम जुड़वा लड़कियों से बहुत प्यार करते हैं और हम चाहते हैं कि वे अपनी माँ की उम्मीद बनें।”

भयानक स्थिति के बावजूद, जुड़वा लड़कियों के नाना को उम्मीद है

YouTube Screenshot | DUB TV

जैनब बीबी के पिता हिदायतुल्लाह कहते हैं, “हमें उम्मीद है, चिकित्सक हमें जल्द ही अॉपरेशन से जुड़ी अच्छी खबर देंगे। उसके बाद हम लोग जिंदगी की दूसरी समस्याओं से निपट लेगें।”

यह गरीब परिवार जुड़वा लड़कियों के लिए प्रार्थना करता है और माँ को आश्वासन दिलाता है

YouTube Screenshot | DUB TV

 

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds