respect,bow,down,elders,feetभारतीय परम्पराएँ युगों-युगों से चलती आ रही है! कुछ परम्पराएँ बहुत ही सामान्य है तो कुछ परम्पराएँ बहुत ही कठिन लेकिन इसके बावजूद भी हम उनका पालन करते हैं। हमारे कई रिवाजों में से एक रिवाज है पैर छूने का रिवाज जिसके द्वारा हम अपने से बड़ों के प्रति आदर दर्शाते हैं। हालाँकि, यह एक सरल रिवाज है लेकिन इसके पीछे का कारण बड़ा दिलचस्प है।

1. पैर हमारे शरीर की नींव है

Credit: Gyani news

मनुष्य उन जीवों में से एक हैं जो खड़े होने में सक्षम हैं। हमारे पैर जन्म से ही हमारे पूरे शरीर के भार को उठाये रखते हैं जिसके कारण यह हमारे शरीर की नींव कहलाते है।

2. अपने से बड़ों के पैर छूकर हम उनका आदर करते हैं

Credit: Patrika

घुटने पर झुककर जब हम उनके पैरों को छूते हैं तो यह दर्शाता है कि हम उनके अनुभव और उनके ज्ञान का सम्मान करते हैं।

3. यह हमारे बुजुर्गों से ज्ञान लेने की अनुमति है

Credit: Ready2beat

अथर्व वेद बताता है कि, जब हम किसी का पैर छूते हैं तो उनसे उनकी ज्ञान और बुधिमत्ता को प्राप्त करने की अनुमति मांगते हैं।

4. सकारात्मक ऊर्जा

Credit: Jagran Josh

जब हम किसी के पैर छूते हैं तो एक सकारात्मक ऊर्जा हमारे चारों ओर एक घेरा सा बना लेती है।

5. हमें किसके सामने झुकना चाहिए?

Whom should you bow down to?

Credit: Patrika

सिर्फ इसलिए कि कोई हमसे बड़ा है तो यह कोई कारण नहीं है कि हमें उनके सामने झुकना चाहिए। आप उन्हीं लोगों के सामने झुकें जिनका आप आदर करते हैं और जो आपका कल्याण चाहते हैं।

 

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds