वास्तव में, एक कुत्ता मनुष्य का सबसे अच्छा मित्र है। ऐसा कुछ भी नहीं है जिसकी तुलना एक कुत्ते की अपने मानव के लिए प्यार और वफादारी से की जा सके। यह इस बेघर कुत्ते और एक उड़ान परिचारिका के बीच विशेष रूप से सच था जिन्होंने उसे थोड़ा सा स्नेह दिखाया था।

ओलिविया सिवर्स (Olivia Sievers) जर्मनी की उड़ान परिचारिका हैं। समय-समय पर, उनकी उड़ानें उन्हें ब्यूनस आयर्स, आर्जेंटीना (Buenos Aires, Argentina) ले आती है—और इन्ही यात्राओं में से एक के दौरान उनकी मुलाकात एक बेघर कुत्ते से हुई जो बहुत तिरस्कृत दिखाई दे रहा था और उसे ध्यान और देखभाल की आवश्यकता थी। वह कुत्तों से प्यार करती हैं, और उन्होंने उस बेघर कुत्ते को कुछ खाना देकर और उसके साथ खेलकर थोड़ा स्नेह दिखाया था। उन्होंने उसे रूबिओ (Rubio) नाम दिया।

Credit: Facebook | Olivia Sievers

रूबिओ एक बेघर कुत्ता था जो ब्यूनस आयर्स की सड़कों पर भटक रहा था, शायद वह हमेशा के लिए एक घर या ऐसे किसी की तलाश कर रहा था जो उसे खाना दे। उस दिन की ओलिविया के साथ की मुलाकात उनमें से सर्वश्रेष्ठ बात थी जो कभी भी उसके साथ हुईं थीं, और तभी से उसने ओलिविया के परिवार का हिस्सा बनने का निश्चय कर लिया।

Credit: Facebook | Olivia Sievers

उस दिन रूबिओ को खिलाने के पश्चात, उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि उनके रास्ते फिर से टकरायेंगे। उन्हें नहीं पता था कि यह एक बहुत ही वफादार दोस्ती की शुरूआत होगी।

ओलिविया का कार्य उन्हें अक्सर ब्यूनस आयर्स में वापस ले आता था, और जब भी वह वापस आतीं थीं, रूबियो उनके होटल के प्रवेश द्वार पर उनके लिए प्रतीक्षा कर रहा होता था।

“मैंने अपना रास्ता बदलने की कोशिश की क्योंकि मैं नहीं चाहती थी कि वह होटल तक मेरे पीछे आए लेकिन यह संभव नहीं था, वह हमेशा मेरा पीछा करता था। इसलिए मैंने एक घंटा इंतज़ार करने की कोशिश की लेकिन वह मुझे हमेशा देखता और मेरा पीछा करता था,” ओलिविया ने नोटिसीरो ट्रेसे (Noticiero Trece) को बताया।

Credit: Facebook | Olivia Sievers

अपने लिए उसके लगाव को देखकर, उन्होंने उसके लिए एक घर खोजा लेकिन वह भाग गया और ठीक उसी होटल के प्रवेश द्वार पर गया जहाँ ओलिविया ठहरी हुई थीं। वह कुत्ते के लिए दुख महसूस कर रही थीं और उन्हें नहीं पता था कि अब क्या करना चाहिए।

“यह कुत्ता वास्तव में एक दोस्त और कुछ प्यार चाहता है, वह वास्तव में हमेशा एक मनुष्य की तलाश में है,” उन्होंने बताया।

यह पूरे 6 महीनों तक चला और ओलिविया को समझ नहीं आ रहा था कि वह अब रुबियो के लिए क्या करें। वह अत्यंत दुखी थीं क्योंकि रोबियो उनके साथ जुड़ा हुआ था। हर दिन और हर रात, रूबियो होटल के प्रवेश द्वार पर एक स्थायी स्थिर वस्तु था। आखिर में रूबियो की दृढ़ता ने अंततः ओलिविया पर अपना प्रभाव डाला।

Credit: Facebook | Olivia Sievers

6 महीने पश्चात, ओलिविया ने रूबियो को अपनाने का फैसला लिया और उसके कागज़ात को तैयार करना शुरू कर दिया जिससे कि वो उसे अपने साथ जर्मनी, अपने घर ले जा सकें। उनकी उड़ान अच्छी रही और कुत्ते से पशु लाउन्ज में अच्छी तरह व्यवहार किया गया।

रूबियो की लंबी प्रतीक्षा अब खत्म हो गई थी। अब वह एक बेघर नहीं है और ओलिविया के साथ उसका एक खुशहाल और प्यार करने वाला घर है। वह अपने नए घर को ओलिविया के दो अन्य कुत्तों के साथ साझा करता है, जो जाहिर है, अब उसकी नई मानव माता हैं।

इस तरह की दिल को छू लेने वाली प्रेम कहानी से पता चलता है कि दया का एक सरल कार्य एक व्यक्ति (या कुत्ते) के लिए कठिनाई में आशा की एक जीने का सहारा हो सकता है। एक दिल से दूसरे के लिए एक अदृश्य संबंध होता है—चाहे वह कुत्ते की वफादारी हो, या मालिक की सहानुभूति—जो खुशी और संतृप्ति से कम किसी के साथ संतुष्ट नहीं होंगी।

प्रेम को प्रेम प्राप्त होता है!

Credit: Facebook | Olivia Sievers

Share

वीडियो