दुनिया में बाघों की संख्या बढ़ाने के लिए पुरजोर कोशिश की जा रही है। इसलिए वन विभाग और टाइगर ज़ोन उनकी देखभाल के लिए पूरी कोशिश में लगे रहते हैं। एक बाघिन ने अपने 5 शावकों को नॉन-टाइगर ज़ोन में जन्म दिया है, जहां पर वह बिलकुल भी सुरक्षित नहीं है। लेकिन वन विभाग उनकी सुरक्षा और देखभाल के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है।

वाइल्डलाइफ एक्सपर्ट की नजर में यह एक दुर्लभ घटना है। दरअसल जानकारी के अनुसार, महाराष्ट्र के चंद्रपुर कस्बे के दूर इलाके में एक बाघिन ने पिछले साल नवंबर-दिसंबर में अपने 5 शावकों को जन्म दिया था, जहां वह अपने बच्चों को अकेले ही बिना किसी सुरक्षा के पाल रही है। लेकिन वन विभाग ने पर्यटकों की चहलकदमी बढ़ने के डर से इस बात को गुप्त रखा था।

अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि बाघिन और उसके बच्चे किस जगह पर मौजूद हैं। लेकिन बताया जा रहा है कि जहां बाघिन और उसके शावकों को रखा गया है वह इलाका चंद्रपुर शहर से 5 किलोमीटर की दूरी पर है और जो उनके लिए सुरक्षित भी नहीं है। लोगों की उत्सुकता को खत्म करने के लिए उन्होनें सिर्फ इतना ही कहा है कि बाघिन और उसके शावकों को चंद्रपुर रेंज में स्थित कंपार्टमेंट नंबर 399 और 400 में रखा गया है।

चंद्रपुर रेंज वन के अधिकारी संतोष थिपे ने बताया कि, ”इंसानों और जानवरों के बीच के संघर्ष को टालते हुए हमने बाघिन के शावकों के जन्म को बिल्कुल गुप्त रखा था क्योंकि अगर किसी को इसकी भनक भी लग जाती तो उन्हें देखने के लिए पर्यटकों की लम्बी लाइन लग जाती। इसलिए हमने इसके बारे में किसी को भी जानकारी नहीं दी थी।”

लेकिन अब महाराष्ट्र के वन विभाग ने बाघिन और उसके बच्चों की कुछ तस्वीरें और विडियो को जारी कर इसकी जानकारी दी है। ऐसा बताया जा रहा है कि यह तस्वीरें इसी साल जुलाई में खींची गई थी, और अब इन्हें वायरल कर दिया गया है। 

साथ ही बाघिन और उसके परिवार की सुरक्षा के लिए उन्होनें कैमरा ट्रैप्स और मचान लगाए हुए हैं जिसके जरिए बाघिन के परिवार पर नजर रखी जाती है। इन्हें पानी देने के लिए उन्होनें एक गहरा गड्ढा खोदा हुआ है और उसमें एक सिंटेक्स टैंक भी लगा दिया गया है। टैंक में लगातार पानी भी भरा जाता है जिससे वह अपनी प्यास बुझा सकें ।

Share

वीडियो