पेरु में एक शेर जंज़ीरों में बंधा और सीमित था, 20 सालों तक घुमक्कड़ सर्कस का एक हिस्सा था जबतक कि पुलिस ने उसे मुक्त नहीं कर दिया।

YouTube Screenshot | Animal Defenders International
YouTube Screenshot | Animal Defenders International

मुफासा (Mufasa) नाम का एक पहाड़ी शेर 20 सालों से दासता का जीवन जी रहा था, पिकअप ट्रक के पीछे जंजीरों से बंधा हुआ जबतक कि वन्यजीव अधिकारी, एनिमल डिफेंडर्स इंटरनेशनल (ADI), दंगा रोधक पुलिस और एक सार्वजनिक अभियोक्ता ने आठ घंटे के सशस्त्र गतिरोध के बाद उसे सर्कस मंडली से बचाया।

Credit: Facebook | Animal Defenders International

जबकि पेरू में सर्कस में जंगली जानवरों पर प्रतिबंध है, आश्चर्य की बात है कि अबतक इस शेर का पता नहीं चल पाया था। इस शेर को पेरुवियन सर्कस में अंतिम जंगली जानवर माना जा रहा है।

YouTube Screenshot | Animal Defenders International
YouTube Screenshot | Animal Defenders International
Credit: Facebook | Animal Defenders International

ADI  के जेन क्रीमर (Jan Creamer) ने मिरर (Mirror) से कहा कि, “मुफासा को सर्कस के औजारों के बीच पिकअप ट्रक के पीछे जंजीर से बंधे हुए देखना दयनीय था। उसके शरीर के चारो तरफ भारी कवच और जंजीर घिरी हुई थी और जैसे ही हमने उन्हें काटा, उसने पहली बार खुलकर अंगड़ाई ली।”

Youtube Screenshot | Animal Defenders International
Youtube Screenshot | Animal Defenders International
Youtube Screenshot | Animal Defenders International

क्रीमर ने कहा कि, “उसके अपने संरक्षित जंगल में पेड़ों के बीच घूमते देखना चमत्कारी लगता है।”

Credit: Facebook | Animal Defenders International
Credit: Facebook | Animal Defenders International

राहत कार्य का वीडियो देखें…

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds