यह घटना मथुरा की है जहाँ जीआरपी के स्टेशन ऑफिसर ने ऐसा काम किया है कि लोग उन्हें सैल्यूट कर रहे हैं। हुआ यूँ कि एक गर्भवती महिला को लेने एंबुलेंस नहीं पहुँच पाई तो वहां खड़े जीआरपी एसओ महिला को गोद में उठाकर भर्ती कराने के लिए दौड़ पड़े। 

Image result for SO sonu carry pregnant women
Credit: siasat

जैसे ही एसओ महिला को लेकर अस्पताल की गेट पर पहुंचे, तभी सभी की निगाहें उन पर टिक गईं। शहर में दिनभर यह घटना चर्चा का विषय बनी रही। लोगों ने उनके इस कदम को सराहा।

वाक्या 14 सितम्बर सुबह करीब दस बजे का है। कैंट रेलवे स्टेशन पर जीआरपी एसओ हाथरस सोनू व इंस्पेक्टर जीआरपी मथुरा अनुराग यादव खड़े थे। तभी कासगंज-आगरा फोर्ट ट्रेन से उतरे दयालपुर, फरीदाबाद निवासी महेश ने उनसे मदद की गुहार लगाई। उन्हें बल्लभगढ़ जाना था।
Image result for SO sonu carry pregnant women
Credit: zeenews.india
उन्होंने बताया कि उनकी गर्भवती पत्नी भावना को अचानक प्रसव पीड़ा होने लगी है। पुलिस अधिकारियों ने तत्काल 102 और 108 एंबुलेंस को फोन लगाया तो उन्होंने आने में असमर्थता जता दी। महिला दर्द से कराह रही थी। फिर क्या था, स्वयं एसओ सोनू महिला को व्हीलचेयर पर बैठाकर स्टेशन के बाहर ले आए और वहां से रिक्शा कर उसे जिला अस्पताल पहुंचाया।
Image result for SO sonu carry pregnant women
Credit: india.com
अस्पताल में मौजूद चिकित्सक ने उन्हें महिला को अस्पताल के अन्दर पहुंचाने की सलाह दी। मौके पर कोई वाहन नहीं था और प्रसव पीड़ा बढ़ती जा रही थी। तत्काल एसओ सोनू ने गर्भवती महिला को गोद में उठाया और अस्पताल की ओर दौड़ लगा दी।
अस्पताल में भावना ने एक पुत्र को जन्म दिया।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds