क्या कोई बच्चा पूरी तरह से ऑटिज़्म से ठीक हो सकता है? एक एरिज़ोना (Arizona) की माँ का दिल टूट गया था जब उनके बेटे को ऑटिज़्म स्पेक्ट्रम डिसऑर्डर (एएसडी) का निदान किया गया था। दो साल बाद, हालांकि, उनका 8 वर्षीय लड़का बदल गया, और अधिक मिलनसार, संतुष्ट और खुश रहने लगा। वह अपने बेटे के ठीक होने का श्रेय एक प्राचीन ध्यान प्रणाली “फालुन दाफा” को देती हैं—एक आध्यात्मिक अभ्यास, जो अपने अभ्यासिओं को सत्य, करुणा और सहनशीलता के सिद्धान्तों पर चलने के लिए प्रोत्साहित करता है।

डायना 3.5 एकड़ के बगीचे की एक महत्वाकांक्षी किसान है, जबकि उनके पति एक रेस्टोरेंट चलाते हैं। यह युगल पांच अदभुत बच्चों के गर्वित माता-पिता हैं। डायना ने एनटीडी (NTD) को बताया कि उन्हें लगा कि उनके बच्चों में से एक, ब्रैडी (Brady) बढ़ते समय संघर्ष कर रहा था।

“मेरा पहले से ही एक और बेटा था इसलिए मुझे पता था कि वह अलग था, लेकिन मैंने बहाने बनाए कि ‘हर कोई अलग होता है, वह बाद में समझदार बन जाएगा; बस अभी उसके व्यवहार में बहुत सारे मोड़ हैं,'” उन्होंने कहा। “लेकिन मुझे पता था कि यहाँ बात कुछ और थी और बस वह एक बहुत खुश बच्चा नहीं था। मुझे पता था कि वह सामान्य रूप से जीवन के तरीकों से जूझ रहा था।”

6 साल की उम्र में ब्रैडी के ऑटिज़्म निदान ने उनका दिल तोड़ दिया था क्योंकि उन्होने महसूस किया कि यह और अधिक वास्तविकता को सामने लाया था। हालांकि, वर्ष 2013 ने उनके पूरे परिवार के लिए एक अच्छी खबर लाई। डायना ने ध्यान अनुशासन फालुन दाफा, (जिसे फालुन गोंग भी कहा जाता है) सीखना शुरू किया।

“अभ्यास में पांच व्यायामों के साथ, और सत्य, करुणा और सहनशीलता के मूल सिद्धान्तों के साथ, इसमें दूसरों के बारे में पहले सोचने का विचार है। यह सिद्धांत मेरे लिए आश्चर्यजनक थे और वास्तव में मुझे अपने जीवन में क्या बदलने की जरूरत है इसकी एक अच्छी बुनियाद दी।” डायना ने कहा।

डायना ने फैसला किया कि वह अपने सभी बच्चों को ब्रैडी समेत फालुन गोंग का अभ्यास करने देगी। उन्होंने सोचा कि उनके सभी बच्चों में से, ब्रैडी इस अभ्यास को समझने वाला आखिरी व्यक्ति होगा।

“मैंने सोचा कि वह इसे समझ नहीं पाएगा। मैंने यह भी सोचा था कि ‘दूसरों को पहले रखने’ का विचार कुछ ऐसा नहीं था जिसे वह समझ सकता था, न ही वह अभ्यास करने के लिए पर्याप्त धीरज रख पाएगा,” उन्होंने कहा।

तो इसके बजाय, उन्होने इस अभ्यास को अपनी 6 साल की बेटी को पहले दिखाया। आश्चर्य की बात है कि, ब्रैडी भी दिलचस्पी लेने लगा और उसके साथ अभ्यास करना शुरू कर दिया।

न केवल ब्रैडी ने अभ्यास सीख लिया, बल्कि उसने ज़ुआन फालुन—फालुन दाफा की मुख्य पुस्तक को भी पढ़ना शुरू कर दिया, जो अभ्यासिओं को उच्च नैतिक मानकों से जीने का मार्गदर्शन करता है।

डायना ने याद करते हुए कहा, “उसने उसे टेबल से उठाया और मैंने देखा की वह उसे फर्श पर बैठ कर पढ़ने लगा है।” “मैं बेहद अचंभित हुई।”

“मैंने जल्दी यह समझ लिए कि इन सभी चुनौतीपूर्ण वर्षों के बाद मैंने सोचा था कि मुझे यह बच्चा और उसकी सारी क्षमता, वह क्या कर सकता है और क्या नहीं कर सकता, उसे क्या उत्तेजित कर सकता है, उसकी सारी सीमाएं आदि का पता है। लेकिन ज़ाहिर है कि मुझे इस बच्चे की भावना और दृढ़ संकल्प के बारे में कुछ नहीं पता था,” उन्होने कहा।

ब्रैडी फालुन दाफा से प्यार करता है। “वह जानता था कि इस अभ्यास से शांति प्राप्त हो सकती थी लेकिन इसे व्यक्त नहीं कर सका। वह जानता था कि यह सही था, लेकिन यह कहने की परवाह नहीं की कि क्यों या कैसे।”

व्यायाम करने और ज़ुआन फालुन पढ़ने के कुछ महीनों के भीतर, ब्रैडी एक पूरी तरह से अलग व्यक्ति में परिवर्तित हो गया। इसके अलावा, लस (gluten) के लिए उसकी गंभीर संवेदनशीलता चमत्कारी रूप से गायब हो गई। उसके स्वास्थय में सुधार ने सभी को आश्चर्यचकित कर दिया।

अभ्यास सीखने से पहले, डायना चिंतित होती जब भी वह ब्रैडी को सार्वजनिक स्थानों पर ले आती इस डर से कि कोई बात उसे उकसा दे और उत्तेजित कर दे।

उसकी हालत के कारण पढ़ाई में भी कठिनाइ हो रही थी।

डायना ने कहा, “इससे चीजों को संभालने और सामान्य रूप से स्कूल में काम करने की उसकी क्षमता प्रभावित हुई थी।”

हालांकि, अभ्यास करने के बाद, ब्रैडी कक्षा में ध्यान देने में सक्षम रहा और अपने शिक्षकों और अन्य लोगों के साथ उचित आंखों के संपर्क को बनाए रखने में सक्षम था।

“वह बहुत संतुष्ट हो गया। वह अधिक तर्कशील था, वह विचारशील था। वह स्कूल में और अधिक मिलनसार बन गया था,” उन्होने कहा।

डायना ने कहा, “इस बदलाव का सबसे अच्छा हिस्सा यह है कि वह अभी भी वैसा ही है लेकिन सिर्फ ज्यादा खुश है।” “ऐसा लगता है कि वह अंततः ‘अनलॉक’ हो चूका था।”

जैसे ही उसने खुद को फालुन दाफा के “सत्य, करुणा और सहनशीलता के मूल सिद्धांतों” के साथ आत्मसात किया, वह दूसरों को बेहतर समझने और अपने को दूसरों की जगह रखकर सोचने में सक्षम था।

“उसका सुंदर और प्यारा व्यक्तित्व अभी भी वैसा ही है लेकिन अब और लोग भी इसे देख सकते हैं। वह मिलनसार है। यद्यपि वह अभी भी लोगों के मुकाबले ज्यादा जानवरों के आसपास होना पसंद करता है, फिर भी जब होना चाहिए तब वह मिलनसार बन जाता है। अब दुनिया को उसे समझाने की बात नहीं है, बल्कि उसे दुनिया को समझाना है,” उन्होने कहा।

फालुन दाफा का धन्यवाद, ब्रैडी एक स्वस्थ, खुश व्यक्ति होने के लिए बढ़ रहा है, और उसका परिवार उसमें सकारात्मक परिवर्तनों को देख अत्यधिक भाग्यशाली महसूस कर रहा है।

अब, ब्रैडी किसी भी चिकित्सा या दवा पर नहीं है और अन्य बच्चों की तरह जीवन का आनंद लेता है। डायना ने कहा, “वह अब 12 वर्ष का है और इस अभ्यास में मेरे साथ साथ रहा है, और हम अपने जीवन और उसमें हमारे उद्देश्य दोनों को समझने में एक साथ विकसित हुए हैं।”

ब्रैडी के जबरदस्त सुधार से आश्चर्यचकित, “उनके शिक्षक भी उसके ध्यान अभ्यास को प्रोत्साहित करते हैं और यहां तक कि उसे ऐसा करते रहने के लिए याद दिलाते हैं।”

ब्रैडी में जो परिवर्तन आए हैं वह इतने अविश्वसनीय हैं कि कोई भी फालुन दाफा के अभ्यास की शक्ति की प्रशंसा किये बिना नहीं रह सकता। यह खुश माँ पूरी तरह से अन्य माता-पिता को इस अभ्यास की सिफारिश करती है और कहती है, “मुझे लगता है कि अगर माता-पिता अपने बच्चों के साथ इसे कर सकते हैं तो यह सर्वश्रेष्ठ हैं।”

Photo Credit: Facebook | NYCC Falun Dafa.


संपादक का संदेश:

फालुन दाफा (फालुन गोंग के नाम से भी जाना जाता है) सत्य, करुणा और सहनशीलता के सार्वभौम सिद्धांतों पर आधारित एक आत्म-सुधार की ध्यान प्रणाली है, जो स्वास्थ्य और नैतिक चरित्र को सुधारने और आध्यात्मिक ज्ञान प्राप्त करने के तरीके सिखाती है।

यह चीन में 1992 में श्री ली होंगज़ी द्वारा जनता के लिए सार्वजनिक किया गया था। वर्तमान में 114 देशों में 100 मिलियन से अधिक लोगों द्वारा इसका अभ्यास किया जा रहा है। लेकिन 1999 के बाद से इस शांतिपूर्ण ध्यान प्रणाली को क्रूरता से चीन में उत्पीड़ित किया जा रहा है।

अधिक जानकारी के लिए, कृपया देखें:  falundafa.org and faluninfo.org. सभी पुस्तकें, अभ्यास संगीत, अन्य सामग्री और निर्देश पूरी तरह से निःशुल्क, कई भाषाओँ में (हिन्दी में भी) उपलब्ध हैं।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds