मकर संक्राति और 26 जनवरी के मौके पर जहाँ पूरा रंग-बिरंगे पतंगों से भरा रहता है और हम बड़े ही हर्षोउल्लास के साथ पतंग उड़ाकर खुशियां मनाते हैं वहीं कुछ ऐसे जीव हैं जिनके लिए हमारा यह शौक खतरा बन जाता है। जी हाँ, आसमान में उड़ रहे परिदों को कहाँ पता होता है कि उन्हीं के ईर्द-गिर्द उड़ रही पतंगें उनकी जान ले सकता है। ऐसी ही एक घटना महाराष्ट्र के मुंबई में 16 जनवरी को घटी जिसको जानकर आपका दिल भर आएगा।

द टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर के अनुसार, 16 जनवरी की सुबह गोरेगांव स्टेशन पर जब हर कोई घर से ऑफिस जाने के लिए निकला था और गोरेगांव स्टेशन पर लोकल ट्रेन के इंतजार में खड़े थे तो अचानक से 5 मिनट के लिए रेलवे सर्विस को बंद कर दिया गया। हालांकि 5 मिनट की कीमत उन रोजगार पेशा लोगों को पता था लेकिन उन्होंने इसके पीछे का कारण जानने की कोशिश की। फिर उनको पता चला कि उत्तरी छोर पर ट्रेन के ऊपर बिजली के तार उलझे मांझे की वजह से एक कबूतर उसमें फंस गया था जिसके कारण कुछ वक्त के लिए बिजली का कनेक्शन काट दिया गया।

हुआ यूं कि, गोरेगांव स्टेशन मास्टर को सुबह 10 बजे किसी ने डिप्टी स्टेशन मास्टर को सूचना दी कि उत्तरी छोर पर एक कबूतर मांझे में फंसा हुआ है। डिप्टी स्टेशन मास्टर ने बिना कोई देरी किए संबंधित विभाग को इसकी जानकारी दी। इसके बाद स्टेशन की बिजली की सप्लाई कुछ दर के लिए बंद कर दी गई।

पश्चिमी रेलवे के चीफ पब्लिक रिलेशन अफ़सर रविंदर भाकड़ ने बताया मीडिया से बात करते हुए कहा, “पंक्षी के फंसे होने के कारण सुबह 10:28 से 10:33 तक बिजली की सप्लाई बंद कर दी गई और फिर इसके बाद फायर ब्रिगेड टी के द्वारा उसे सुरक्षित बचा लिया गया।”

वास्तव में रेलवे द्वारा एक पंछी को बचाने के लिए किया गया यह काम सराहनीय योग्य है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds