यूपीएससी परीक्षा पास करना किसी भी शख्स के लिए वर्षों का सपना पूरा करने जैसा होता है क्योंकि इससे आप एक ऐसे पद पर काबिज होंगे जहाँ से किसी राज्य के भविष्य को बदला जा सकता है। हर वर्ष जून के महीने में लाखों की संख्या में लोग इस परीक्षा में शामिल होते हैं लेकिन उनमें से सिर्फ 700 ही जगह बना पाते हैं।

लेकिन कई परीक्षार्थी इस बात को लेकर क्या करूं, क्या न करूं की स्थिती में होते हैं कि कितनी किताबें, कितने घंटे और किस तरह पढ़ाई की जाए। तो आज हम आपके समक्ष एक ऐसे शख्स को लेकर आए हैं जिन्होंने वर्ष 2014 में इस परीक्षा में देशभर में 13 स्थान प्राप्त किया था। उनका नाम है निशांत जैन जो मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के हैं। जब Hindustan Times ने उनसे साक्षात्कार किया तो उन्होंने बताया कि किस प्रकार उन्होंने परीक्षा की तैयार की।

तो चलिए, नजर डालते हैं Hindustan Times को दिए गए उनके साक्षात्कार पर:

1. साक्षातकर्ता: सिविल सर्विसेज परीक्षा पास करने के लिए क्या पढ़ना चाहिए?

निशांत: आपको सबकुछ पढ़ने की जरूरत नहीं है और न ही आपको 100 किताबें पढ़ने की आवश्यकता है क्योंकि शोध करना आपका लक्ष्य नहीं है। आपका लक्ष्य है परीक्षा पास करना। प्रत्येक विषय के लिए सिर्फ एक किताब खरीदें। और ये किताबें किसी विश्वसनीय प्रकाशक द्वारा प्रकाशित हो जिसे किसी विश्वनीय लेखक ने लिखा हो। अगर आप चाहें तो एक अच्छे वेबसाइट से इन किताबों की सूची प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ ही एक अच्छा न्यूज पेपर और मासिक पत्रिका पढ़ने की आदत भी डालें।

2. साक्षातकर्ता: परीक्षा पास करने के लिए कितने समय के अध्ययन की आवश्यकता है?

निशांत: परीक्षा पास करने के लिए यह जरूरी नहीं है कि आप बंद कमरे में दिन भर पढ़ते रहें। 7-8 घंटे की पढ़ाई भी काफी है। प्रभावशाली ढ़ंग से पढ़ाई करने के लिए जरूरी है कि आप मस्तिष्क को चिंता मुक्त रखें जिसके लिए जरूरी है कि आप पढ़ाई के साथ-साथ दोस्तों के साथ भी समय बिताएं, मूवी देखने जाएँ, गानें सुने।

3. साक्षातकर्ता: परीक्षा के लिए किस प्रकार तैयारी की जाए?

निशांत: अच्छी किताबें पढ़ने के साथ जरूरी है कि आप एक सही योजना बनाएं। हर विषय को एक साथ जोड़ने की कोशिश करें। प्रत्येक विषय कहीं न कहीं एक-दूसरे के साथ जुड़ा होता है। जैसे कि आप जो भी भूगोल में पढ़ते हैं वो कहीं न कहीं राजनीति से जुड़ा होता है, राजनीति इतिहास से तथा इतिहास फिर भूगोल से। अगर आप इस तरह से अपनी योजना बनाएं तो वह आपके लिए बेहतर साबित होंगी।

4. साक्षातकर्ता: वैकल्पिक विषय का चुनाव किस प्रकार करें?

निशांत: यहाँ आपको बुद्धिमानी से अपने वैकल्पिक विषय का चुनाव करना होगा। यहाँ आपको उस विषय का चुनाव करना होगा जिसमें आपको अच्छा ज्ञान है। हालांकि, यह जरूरी भी नहीं कि आप उसी विषय का चुनाव करें जो आपने अपने ग्रेजुएशन के दौरान पढ़ा है। आपने जिस विषय की पढ़ाई ग्रेजुएशन में की है अगर वो ज्यादा कठिन है तो बेहतर है कि आप उस विषय का चुनाव करें जो ज्यादा कठिन न हों और जिसमें अंक प्राप्त करना आसान हो।

5. क्या यह सही होगा अगर कोई शख्स सिविल सर्विसेज परीक्षा के साथ किसी और परीक्षा की तैयारी करे?

निशांत: बहुत सारे ऐसे परीक्षार्थी हैं जो सिविल सर्विसेज के साथ-साथ राज्य सेवा परीक्षा की तैयारी करते हैं। यह एक अच्छा विकल्प होता है अगर आप बैकअप को साथ लेकर चलते हैं तो। हालांकि, राज्य सेवा परीक्षा एक प्रकार से सिविल सर्विसेज परीक्षा की तरह ही होती है लेकिन उसमें संबंधित राज्य से ज्यादा प्रश्न पूछे जाते हैं। राज्य सेवा परीक्षा में सम्मिलित होना अच्छा होता है क्योंकि इससे आपको अपनी तैयारी का पता चल जाता है। लेकिन बहुत सारी परीक्षाओं में शामिल न हों, यह आपको भ्रमित कर देगा।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds